scorecardresearch
 

विवेक तिवारी मर्डर: कलराज मिश्र ने बताया धब्बा, 13 बीजेपी MLAs ने लिखी CM योगी को चिट्ठी

आपको बता दें कि सोमवार को ही विवेक तिवारी की पत्नी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. सरकार की ओर से विवेक के परिवार के लिए मुआवजे का ऐलान किया गया है.

कलराज मिश्र (पूर्व केंद्रीय मंत्री, फाइल फोटो Getty) कलराज मिश्र (पूर्व केंद्रीय मंत्री, फाइल फोटो Getty)

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार रात पुलिस की गोली द्वारा हुई विवेक तिवारी की मौत से राज्य सरकार की किरकिरी हो रही है. पुलिस की इस लापरवाही पर लगातार सवाल उठ रहे हैं, ये सवाल सिर्फ विपक्षी पार्टियां ही नहीं बल्कि बीजेपी के नेता भी उठा रहे हैं.

पूर्व केंद्रीय मंत्री और यूपी बीजेपी के बड़े नेता कलराज मिश्र ने भी इस मसले पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि जिस तरह विवेक तिवारी की हत्या की गई है, वह बहुत निंदनीय है. ये पुलिस विभाग पर धब्बा है, गोली चलाकर मार देना किस तरह का अधिकार है.

कलराज मिश्र के  अलावा सूत्रों से यह खबर भी मिली है कि बीजेपी के 13 विधायकों ने भी इस घटना पर पुलिस की कार्रवाई के प्रति नाराजगी जाहिर की है. सिर्फ इतना ही नहीं इन विधायकों ने इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी भी लिखी है.

वहीं, देवरिया से सांसद कलराज मिश्र ने कहा कि अगर उन्हें लगा था कि कोई बात है, तो सिर्फ टायर पंचर कर देते, या अगले किसी नाके को खबर कर देते. उन्होंने कहा कि जिस तरह से ये पूरा हादसा हुआ है उससे साफ नजर आता है कि पुलिस के अंदर आपराधिक मानसिकता वाले लोग मौजूद हैं, जिन्हें नियंत्रित किए जाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि आपराधिक मानसिकता वाले लोगों ने पूरी सरकार को कलंकित किया है, ये एक प्रकार से सरकार पर भी धब्बा है.

आपको बता दें कि इस पूरी घटना के बाद राज्य में कई BJP विधायकों और मंत्री ने यूपी पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा दिए हैं. हरदोई विधायक रजनी तिवारी, बरेली के विधायक राजेश कुमार मिश्र और लखनऊ से विधायक और योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने भी चिट्ठी लिख यूपी पुलिस को घेरे में लिया है.

मालूम हो कि शुक्रवार रात लखनऊ के गोमती नगर इलाके में गाड़ी नहीं रोकने पर एक सिपाही ने एप्पल कंपनी में मैनेजर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस मामले में दोनों पुलिसवालों को जेल भेज दिया गया है, साथ ही उन्हें नौकरी से बर्खास्त किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें