scorecardresearch
 

बुलंदशहर गैंगरेप पर यूपी में चढ़ा सियासी पारा, मांगा CM अखिलेश का इस्तीफा

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि अखिलेश यादव की सरकार में कानून का राज नहीं है, बल्कि जंगलराज है. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को सलाह है कि अगर उनसे प्रदेश नहीं संभल रहा है तो नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें.

पुत्र मोह छोड़कर इस्तीफा मांगे मुलायम-बीजेपी पुत्र मोह छोड़कर इस्तीफा मांगे मुलायम-बीजेपी

बुलंदशहर की गैंगरेप की घटना ने एक बार फिर से अखिलेश यादव सरकार की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए. इस घटना के बाद विपक्ष को सरकार पर निशाना साधने का मौका मिल गया. इसलिए इस गैंगरेप की घटना गूंज लखनऊ से लेकर संसद के अंदर तक सुनाई दी.

अखिलेश से नहीं संभलता तो गद्दी छोड़ें
बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि अखिलेश यादव की सरकार में कानून का राज नहीं है, बल्कि जंगलराज है. उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को सलाह है कि अगर उनसे प्रदेश नहीं संभल रहा है तो नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें.

अपराधियों के मन में कानून का डर नहीं
दूसरी तरफ बीजेपी ने इस मुद्दे पर अखिलेश यादव की सरकार के साथ साथ मुलायम सिंह यादव को आड़े हाथों लिया. यूपी बीजेपी के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कहा इस सरकार से जनता त्रस्त हो चुकी है. आए दिन रेप की घटना घटती रहती है, क्योंकि अपरधियों के मन में कानून का भय नहीं रहा है. अब समय आ गया है कि अखिलेश यादव को खुद इस्तीफा दे देना चाहिए.

पुत्र मोह छोड़कर इस्तीफा मांगे मुलायम
मौर्य ने कहा कि अगर अखिलेश यादव खुद इस्तीफा नहीं देते हैं, तो मुलायम सिंह यादव को प्रदेश की जनता के भले के लिए पुत्र मोह से बाहर आकर उनका इस्तीफा ले लेना चाहिए. वहीं अनुप्रिया पटेल ने कहा कि मुलायम सिंह यादव पब्लिक मंच से कई बार महिलाओं के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी कर चुके हैं. इसलिए प्रदेश में महिलाओं के साथ इस तरह की घटना होती है.

इस्तीफा मांगने वाले, मांगते ही रह जाएंगे
समाजवादी पार्टी के सांसद रामगोपाल यादव ने कहा कि अपराधियों को पकड़ लिया गया है. जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों पर कार्यवाही भी की गई है, लेकिन कुछ लोगों का काम है इस्तीफा मांगना . वो 2017 के बाद भी इस्तीफा ही मांगते रह जाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें