scorecardresearch
 

मथुरा पहुंची हेमा मालिनी को पुलिस ने हिंसा स्थल जाने से रोका, सांसद ने यूपी सरकार पर साधा निशाना

पुलिस ने कहा कि उक्त इलाके में अभी भी तलाशी अभियान जारी है, इसलिए वहां किसी भी असैन्य व्यक्ति का जाना प्रतिबंधित है.

अस्पताल में घायल पुलिसर्मियों से मिलतीं हेमा मालिनी । फोटो: एएनआई अस्पताल में घायल पुलिसर्मियों से मिलतीं हेमा मालिनी । फोटो: एएनआई

मथुरा में पुलिस और उपद्रवियों के बीच हिंसक झड़प में अभी तक 24 लोगों की मौत हो गई है. इलाके में स्थि‍ति अभी भी तनावपूर्ण है, वहीं शनिवार इलाके की सांसद हेमा मालिनी झड़प वाले जवाहर बाग में स्थिति का जायजा लेने पहुंची. हालांकि, पुलिस ने प्रवेश करने से रोक दिया, जिसके बाद माननीय सांसद ने अस्पताल जाकर घायल पुलिसर्मियों का हालचाल लिया.

पुलिस ने कहा कि उक्त इलाके में अभी भी तलाशी अभियान जारी है, इसलिए वहां किसी भी असैन्य व्यक्ति का जाना प्रतिबंधित है. पुलिस अधिकारियों ने कहा कि इसमें कोई विशेष बात नहीं है. मथुरा से सांसद हेमा मालिनी को रोकने के पीछे पुलिस की कोई विशेष मंशा नहीं है और उनका इरादा साफ है. अभी पूरा इलाका सुरक्षित घोषित नहीं हुआ है.

वीआईपी की सुरक्षा के मद्देनजर लिया फैसला
पुलिस और विशेषज्ञों के दल चप्पे-चप्पे की छानबीन कर रहे हैं कि कहीं कोई विस्फोटक न छिपा हो. यदि ऐसे में वीआईपी या किसी भी व्यक्ति के साथ कोई दुर्घटना घट जाती है तो जवाब देना मुश्किल हो जाएगा.

ट्विटर पर हेमा की तस्वीर से लोगों में गुस्सा
गौरतलब है कि गुरुवार को मथुरा के दो जाबांज पुलिस अधिकारियों की शहादत और दो दर्जन अन्य लोगों के मारे जाने की घटना के बीच सांसद हेमा मालिनी ने ट्व‍िटर पर अपनी कुछ तस्वीरें पोस्ट की थीं. ये तस्वीरें उनकी नई फिल्म ‘एक थी रानी’ की शूटिंग से जुड़ी थीं. सांसद की तस्वीरों के सामने आने के बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा था.

सोशल मीडिया पर दुख जताया
विवाद गहराने पर बाद में हेमा ने अपनी वह पोस्ट तुरंत हटाकर मथुरा की घटना पर दुख जताने से संबंधित पोस्ट डाल दी थी. उन्होंने बाद में शनिवार को मथुरा पहुंचने की भी जानकारी सोशल मीडिया पर साझा की थी.

'यूपी सरकार विधि व्यवस्था पर ध्यान दे'
अपने लोकसभा क्षेत्र पहुंची हेमा मालिनी ने उपद्रव की घटना के लिए उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को विधि व्यवस्था पर ध्यान देने की जरूरत है. बीजेपी नेता ने कहा कि हिंसा की खबर मिलते ही वह अपनी फिल्म की शूटिंग रद्द कर तत्काल मथुरा पहुंचीं.

'जब भी जरूरत होगी, मैं आऊंगी'
तस्वीरें साझा करने के विवाद पर पर्दा डालने की कोशिश करते हुए उन्होंने कहा, 'मैं एक फिल्म की शूटिंग कर रही थी इसलिए मैंने ऐसा कहा. उसके बाद यह घटना हुई. कल रात मैं यहां पहुंचीं. मैंने अपनी सभी शूटिंग रद्द कर दीं और यहां आ गयी. मेरी मौजूदगी जब जरूरी होगी, मैं आऊंगी. मुझे और भी काम हैं. मैं पिछले दस दिन से यहां थीं. मैं जैसे ही गई, उसके अगले दिन यह हुआ.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें