scorecardresearch
 

हाथरस: पीड़िता के परिवार से राहुल-प्रियंका ने एक घंटे की बात, बोले- अन्याय के खिलाफ लड़ेंगे

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी शनिवार को हाथरस पहुंचे. दोनों नेताओं ने यहां पर गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मुलाकात की. राहुल और प्रियंका गांधी ने बंद कमरे में पीड़िता के परिवार से मुलाकात की. इस दौरान प्रियंका गांधी ने पीड़िता की मां को गले लगाया और सांत्वना दी.

X
पीड़िता की मां को प्रियंका गांधी ने लगाया गले (फोटो- PTI) पीड़िता की मां को प्रियंका गांधी ने लगाया गले (फोटो- PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राहुल और प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात
  • करीब एक घंटे दोनों नेताओं ने की परिवार से बात
  • हम अन्याय के खिलाफ लड़ेंगे: प्रियंका गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष  राहुल गांधी और प्रियंका गांधी शनिवार को हाथरस पहुंचे. दोनों नेताओं ने यहां पर गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मुलाकात की. राहुल और प्रियंका गांधी ने बंद कमरे में पीड़िता के परिवार से मुलाकात की. इस दौरान प्रियंका गांधी ने पीड़िता की मां को गले लगाया और सांत्वना दी. कांग्रेस के दोनों दिग्गज नेतओं ने करीब एक घंटे तक पीड़िता के परिवार से बातचीत की.   

परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि हम अन्याय के खिलाफ लड़ेंगे. परिवार आखिरी बार अपनी बच्ची का चेहरा नहीं देख पाया. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी. कांग्रेस महासचिव ने कहा कि जब तक न्याय नहीं मिलता, तब तक हम लड़ेंगे. परिवार न्यायिक जांच चाहता है.

मुलाकात के बाद पीड़िता के भाई ने क्या कहा

पीड़िता के भाई ने कहा कि प्रियंका गांधी और राहुल गांधी की ओर से आर्थिक सहायता का एक चेक दिया गया है. हमें जो भी पैसा देगा वो मंजूर है. सीएम योगी ने भी जो दिया वो हमारे अकाउंट में है. कभी जरूरत पड़ेगी तो हम उसका इस्तेमाल कर सकेंगे.

पीड़िता के भाई आगे कहते हैं कि प्रियंका और राहुल गांधी ने हमें सुना और समझा. हम लोगों के साथ जो कुछ भी हुआ हमने उनको बताया. उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि कोई भी मदद चाहिए हो तो बताना. 

5 लोगों को मिली थी जाने की अनुमति

राहुल और प्रियंका गांधी समेत 5 लोगों को हाथरस जाने की अनुमति मिली. यूपी सरकार ने उन्हें इजाजत दी. प्रशासन ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हाथरस जाने और पीड़िता के परिवार से मिलने की अनुमति कुछ शर्तों पर दी. 

बता दें कि हाथरस कांड को लेकर सियासत उफान पर है. दिल्ली से हाथरस जाने के लिए राहुल गांधी पूरे लाव-लश्कर के साथ निकले. राहुल की कार खुद बहन प्रियंका गांधी चला रही थीं. 

प्रशासन ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हाथरस जाने और पीड़िता के परिवार से मिलने की अनुमति कुछ शर्तों पर दी, जिनमें मास्क लगाना और कोरोना से जुड़े अन्य प्रोटोकॉल का पालन करना शामिल है. 

इससे पहले राहुल गांधी और प्रियंका गांधी 35 सांसदों के डेलीगेशन के साथ हाथरस के लिए निकले थे. डीएनडी पर यूपी पुलिस ने सुरक्षा के तगड़े इंचतजाम किए थे. अपने नेता को देख उत्साहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे. डीएनडी पर जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई.

नोएडा के जॉइंट सीपी लव कुमार डिप्टी कमिश्नर रणवीर सिंह के साथ राहुल गांधी से बात की. डीएनडी पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नियमों और कोविड प्रोटोकॉल की भी जमकर धज्जियां उड़ाईं. दूसरी तरफ, राजधानी लखनऊ में यूपी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को हाउस अरेस्ट कर लिया गया है. लखनऊ के बहुखंडी स्थित लल्लू के आवास पर भी भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

आवास पर तैनात पुलिसकर्मी अजय लल्लू को कहीं भी आने-जाने की इजाजत नहीं दे रहे हैं. बताया जाता है कि अजय लल्लू के आवास पर आधी रात के बाद 1 बजे से ही भारी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. हालांकि, पुलिस का कहना है कि अजय कुमार लल्लू की सुरक्षा को देखते हुए पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है.

अजय लल्लू को हाउस अरेस्ट ऐसे समय में किया गया है, जब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाथरस जाने का ऐलान किया है. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि उन्हें हाथरस जाकर पीड़िता के परिजनों से मिलकर उनका दर्द बांटने से कोई नहीं रोक सकता. राहुल गांधी के साथ उनकी बहन प्रियंका गांधी भी होंगी.

गौरतलब है कि गुरुवार को ग्रेटर नोएडा में उस वक्त काफी बवाल हुआ था जब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी एक्सप्रेसवे होते हुए हाथरस जाने की कोशिश कर रहे थे. नोएडा पुलिस ने उन्हें जाने की इजाजत नहीं दी थी. राहुल के साथ धक्कामुक्की तक की नौबत आ गई थी. घंटों के ड्रामे के बाद पुलिस ने राहुल और प्रियंका को हिरासत में लिया था और बाद में छोड़ दिया गया था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें