scorecardresearch
 

गोरखपुर: वैक्सीनेशन की जानकारी इकट्ठा करने गई आशा के साथ मारपीट, नोटबुक फाड़ी गई

गोरखपुर में कोविड टीकाकरण के लिए जानकारी इकट्ठा करने गईं आशा कार्यकर्ता से अभद्रता की गई. इसके साथ ही आधिकारिक नोट बुक भी फाड़ दी गई है.

गोरखपुर पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ दर्ज किया केस गोरखपुर पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ दर्ज किया केस
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुलिस ने 10 लोगों पर दर्ज किया केस
  • अभी किसी की भी गिरफ्तारी नहीं

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में कोविड टीकाकरण के लिए जानकारी इकठ्ठा करने गईं आशा कार्यकर्ता से अभद्रता की गई. इसके साथ ही आधिकारिक नोट बुक भी फाड़ दी गई है. इस मामले में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. दरअसल, पूरे उत्तर प्रदेश में आशा कार्यकर्ताओं द्वारा टीकाकरण के लिए स्थानीय निवासियों का विवरण इकट्ठा करने का काम किया जा रहा है.

गोरखपुर के भटहट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में तैनात गीता सिंह ने बताया कि मुझे स्थानीय लोगों का आधार और मोबाइल नंबर एकत्र करके रिपोर्ट तैयार करनी थी, मैं उस गाँव में छोटे लाल के घर पहुंची परिवार के लोगों का आधार नम्बर मांगा, लेकिन छोटे लाल के बेटे पप्पू के साथ घर की कुछ महिलाएं भी आईं और उनके बेटे पप्पू ने मुझे गालियां दीं. मुझे धक्का देकर जबरन नोट बुक छीन ली.

पुलिस के अनुसार. यह घटना 3 जून की है. जब गीता सिंह उस गांव में गई थी तो उस गांव के छोटे लाल के परिवार ने उनके साथ मारपीट की और उनके हाथ में मौजूद आधिकारिक नोटबुक भी फाड़ दी, जिसमें पहले से लिए गए लोगों का विवरण भी मौजूद था.

इस मामले में गुलरिया थाने में 10 नामजद लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. इंस्पेक्टर गुलरिया ने बताया कि विवेचना अभी चल रही है और विवेचना के बाद गिरफ्तारी भी की जाएगी. फिलहाल अभी कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें