scorecardresearch
 

गौतमबुद्ध नगर: पंचायत चुनाव पर रहेगी सख्त नजर, ड्रोन से होगी निगरानी, जानें क्या है पूरा प्लान 

यूपी में पंचायत चुनाव का शोर शुरू हो चुका है. इस चुनाव को लेकर पुलिस और प्रशासन ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं. किसी भी प्रकार की गड़बड़ी न हो, इसके लिए सुरक्षा व्यवस्था का प्लान तैयार किया जा रहा है.

पंचायत चुनाव को लेकर जिला प्रशासन ने शुरू की तैयारी पंचायत चुनाव को लेकर जिला प्रशासन ने शुरू की तैयारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चुनाव के दौरान वेबकास्टिंग की भी व्यवस्था
  • बूथों में चुनाव के दौरान होगी वीडियोग्राफी  
  • जिला प्रशासन ने चुनाव की तैयारियां की शुरू

उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर में पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से कराने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है. जिला प्रशासन ने संवेदनशील या अतिसंवेदनशील बूथों पर ड्रोन के जरिए निगरानी करने का फैसला लिया है. बूथों में चुनाव के दौरान वीडियोग्राफी कराई जाएगी, साथ ही साथ वेबकास्टिंग की व्यवस्था भी की जाएगी.

गौतमबुद्ध नगर में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव दूसरे चरण में 19 अप्रैल को होना है. अधिकारियों के मुताबिक इस बार जिले में 59 संवेदनशील, 45 अति संवेदनशील और 28 अतिसंवेदनशील प्लस बूथ बनाए गए हैं. कोई भी पोलिंग बूथ सामान्य नहीं रखा गया है. कुछ अति संवेदनशील बूथों पर वेबकास्टिंग का इंतजाम इसलिए किया गया है, ताकि जिला प्रशासन और पुलिस के साथ-साथ चुनाव आयोग की टीमें भी उस पर बारीकी से नजर रख सकें.

कर्मचारियों को प्रशिक्षण

पंचायत चुनाव में मतदान करवाने के लिए लगाए गए कर्मचारियों को 9, 13 और 14 अप्रैल को प्रशिक्षण दिया जाएगा. इसके अलावा सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट को 6 अप्रैल को प्रशिक्षण दिया जाएगा. जिला प्रशासन के अधिकारी लगातार जेवर, दादरी और बिसरख इलाकों में दौरा कर रहे हैं. इस बात का खास ख्याल रखा गया है कि जहां पोलिंग पार्टियां पहुंचेंगी, वहां व्यवस्था कैसी है. खामियां मिलने पर उन्हें ठीक करने के दिशा निर्देश जारी किए जा रहे हैं.

वहीं नामांकन प्रक्रिया के दौरान किसी प्रकार की समस्या न आए, इसके लिए मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने दादरी एवं बिसरख ब्लॉक का निरीक्षण किया. यहां संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि नामांकन करने के दौरान समस्त अधिकारियों के द्वारा आयोग के निर्धारित मानकों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए, ताकि जनपद में पंचायत सामान्य निर्वाचन का मतदान सकुशल संपन्न हो सके.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें