scorecardresearch
 

रोज 50 मिनट पसीना बहाएंगे थुलथुल पुलिस वाले

यूपी पुलिस की पहचान इसके बेढ़ंगे, थुलथुल शरीर वाले पुलिस कर्मियों से ज्यादा होती है. फिटनेस पर ध्यान न देने से पुलिस कर्मियों की कार्यक्षमता बुरी तरह से प्रभावित हो रही है. इन्हें चुस्त दुरुस्त रखने के लिए सरकार एक योजना लेकर सामने आई है.

यूपी पुलिस की पहचान इसके बेढ़ंगे, थुलथुल शरीर वाले पुलिस कर्मियों से ज्यादा होती है. फिटनेस पर ध्यान न देने से पुलिस कर्मियों की कार्यक्षमता बुरी तरह से प्रभावित हो रही है. इन्हें चुस्त दुरुस्त रखने के लिए सरकार एक योजना लेकर सामने आई है.

अपर पुलिस महानिदेशक ( कानून एवं व्यवस्था) अरुण कुमार ने सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को एक सर्कुलर जारी कर पुलिस लाइन में हर सुबह होने वाली परेड को 30 मिनट से बढ़ाकर 50 मिनट करने का आदेश दिया है.

हर जिले की पुलिस लाइन में तैनात पुलिस कर्मियों की रोज परेड होती है. प्रतिसार निरीक्षक (आरआई) पुलिस लाइन में परेड की कमांड संभालता है. इसके अलावा सोमवार को योग और मंगलवार को पीटी की क्लास होती है, जबकि शुक्रवार को जिले के कप्तान के नेतृत्व में परेड होती है. बुधवार की सुबह रेस, व्यायाम, फायरिंग और शस्त्र के रखरखाव की ट्रेनिंग दी जाती है. पुलिस मुख्यालय में उपाधीक्षक के पद पर तैनात एस. के. वर्मा बताते हैं कि अभी तक समय कम होने के कारण सुबह के व्यायाम का सही नतीजा नहीं निकल पा रहा है था.

पुलिस कर्मी भी सुबह के इन व्यायाम सत्रों को गंभीरता से नहीं ले रहे थे. अब नए आदेशों के तहत सभी पुलिस कर्मियों को हर हाल में सुबह पुलिस लाइन ग्राउंड पर मौजूद होना होगा. 50 मिनट के सत्र में सभी पुलिस कर्मियों को जमकर पसीना बहाना होगा. वर्मा बताते हैं 'हर हफ्ते पुलिस कर्मी के शरीर की नाप ली जाएगी जिसका बकायदा रिकार्ड रखा जाएगा.

जिन पुलिस कर्मियों का शरीर भारी, थुलथुल, पेट बाहर निकला हुआ होगा उनपर विशेष रूप से प्रशिक्षित ट्रेनर की मदद से व्यायाम करवाया जाएगा. इसके अलावा अब हर रविवार को पुलिस कर्मियों के लिए तीन घंटे की क्लास भी लगेगी. इसमें उन्हें शस्त्रों का रखरखाव, आंसू गैस के प्रयोग का तरीका, फोरेंसिक से लेकर फस्र्ट एड के बारे में एक्सपर्ट जानकारी देंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें