scorecardresearch
 

यूपी: बेटी के लिए नहीं मिली छुट्टी तो डिप्टी SP ने दिया इस्तीफा, DIG से बात के बाद वापस लिया

सोशल मीडिया पर वायरल मनीष सोनकर के पत्र में आरोप लगाया गया कि पत्नी के कोरोना संक्रमित होने के बाद उनकी 4 साल की बेटी की देखरेख के लिए घर में कोई दूसरा नहीं था.

एसएसपी रोहन पी कानय. एसएसपी रोहन पी कानय.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • झांसी में CO सदर के पद पर तैनात हैं मनीष सोनकर
  • डिप्टी SP मनीष सोनकर ने दे दिया इस्तीफा
  • कोरोना संक्रमित हैं डिप्टी SP की पत्नी

झांसी में कोरोना संक्रमित पत्नी और 4 साल की बेटी की देखरेख के लिए छुट्टी नहीं दी गई तो सीओ सदर मनीष सोनकर ने नौकरी से इस्तीफा दे दिया. डिप्टी एसपी रैंक के अधिकारी की ओर से छुट्टी न मिलने की वजह से इस्तीफा दिए जाने के बाद महकमे में हड़कंप मच गया. झांसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) ने डिप्टी एसपी का इस्तीफा उच्चाधिकारियों को भेज दिया था.

झांसी में सीओ सदर के पद पर तैनात मनीष सोनकर ने अब अपना इस्तीफा वापस ले लिया है. झांसी रेंज के डीआईजी जोगिंदर कुमार से बातचीत के बाद मनीष सोनकर ने अपना इस्तीफा वापस ले लिया. मनीष सोनकर ने अपनी कोरोना संक्रमित पत्नी और बेटी की देखरेख के लिए एसएसपी झांसी की ओर से छुट्टी नहीं दिए जाने के बाद नौकरी से इस्तीफा दे दिया था.

सोशल मीडिया पर वायरल मनीष सोनकर के पत्र में आरोप लगाया गया कि पत्नी के कोरोना संक्रमित होने के बाद उनकी 4 साल की बेटी की देखरेख के लिए घर में कोई दूसरा नहीं था. 1 दिन पहले आए सरकारी फॉलोवर के सहारे बेटी और पत्नी को छोड़ना उचित नहीं समझा जिसके लिए उन्होंने एसएसपी से 1 मई को ही 6 दिन की छुट्टी मांगी थी, इसके बावजूद 2,3 मई की ड्यूटी बड़ागांव मतगणना केंद्र पर लगा दी गई. 2 मई को जब छुट्टी मांगी तो एसएसपी ने फॉलोअर के सहारे पत्नी और 4 साल की बेटी को छोड़कर ड्यूटी पर आने को कहा तो उन्होंने इस्तीफा भेज दिया.

एसएसपी ने दिया अलग तर्क

इस मसले पर जब छुट्टी नहीं देने वाले एसएसपी झांसी रोहन पी कानय से सवाल किया गया तो उन्होंने अलग ही मामला बताया. एसएसपी झांसी की मानें तो मनीष सोनकर अधिकारिक तौर पर घर में एक फॉलोवर रख सकते हैं, जबकि वह 2 फॉलोवर रखे थे. दूसरे फॉलोवर का भुगतान सरकारी खजाने से करवा रहे थे, जिस पर उनके द्वारा आपत्ति की गई और सरकारी खजाने से भुगतान को रोक दिया गया था. जिसके बाद मनीष सोनकर ने दूसरा फॉलोवर भेजने की पेशकश की. 1 फॉलोवर को चोरी करने का आरोप लगाकर हटा दिया और दूसरे भेजे गए फॉलोवर को गंदगी फैलाने की शिकायत कर हटा दिया गया. इस तरह के उनके लिए हो रहे भुगतान पर रोक के बाद से ही मनीष सोनकर ड्यूटी में हीला हवाली कर रहे थे.

2 मई को पंचायत चुनाव की मतगणना वाले दिन जब डीएम और एसएसपी झांसी मौके पर पहुंचे तो मनीष सोनकर मौके पर मौजूद नहीं थे. फोर्स भी तितर-बितर थी, जिसको देखने के बाद जब एसएसपी ने मनीष सोनकर से ड्यूटी पर आने के लिए कहा तो उन्होंने अपने हाथ से लिखे इस्तीफे की फोटो एसएसपी को वॉट्सऐप कर दी. जिसको उच्चाधिकारियों को भेज दिया गया है. वहीं, एसएसपी रोहन पी कानय का कहना है कि कार्यालय आने पर मनीष सोनकर की 6 दिन की छुट्टी को भी स्वीकृत कर दिया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें