scorecardresearch
 

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए योगी सरकार ने जारी किया गरीबों के घर का मॉडल

लखनऊ के जियामऊ इलाके में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो ऐसे मॉडल घरों का उद्घाटन किया जो आने वाले वक्त में मोदी सरकार की सबसे बड़ी पहचान होगा. करीब 27 वर्ग मीटर में बना मॉडल घर एक कमरे का फ्लैट होगा. जिसमें बेडरूम, ड्राइंग रूम, डाइनिंग रूम एक साथ होंगे और एक खुला किचन होगा.

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो मॉडल घरों का उद्घाटन प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो मॉडल घरों का उद्घाटन

अब तक देश के लोग पीएम मोदी से यही सुन रहे हैं कि 2022 तक सभी गरीबों का अपना घर होगा. सभी के सिर के ऊपर अपनी छत होगी. लेकिन यह कैसा होगा, कितना बड़ा होगा और कितनी सुविधाओं से लैस होगा इसकी जानकारी किसी को नहीं थी. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो मॉडल घरों का उद्घाटन किया है. जो आने वाले वर्षों में गरीबों का आशियाना होगा.

लखनऊ के जियामऊ इलाके में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो ऐसे मॉडल घरों का उद्घाटन किया जो आने वाले वक्त में मोदी सरकार की सबसे बड़ी पहचान होगा. करीब 27 वर्ग मीटर में बना मॉडल घर एक कमरे का फ्लैट होगा. जिसमें बेडरूम, ड्राइंग रूम, डाइनिंग रूम एक साथ होंगे और एक खुला किचन होगा. घर से जुड़ा हुआ एक वॉशरूम होगा जबकि पीछे एक बालकनी होगी और उसी बालकनी में एक टॉयलेट होगा. यह मॉडल घर जब अपने अस्तित्व में आएगा तो यह चार मंजिला होगा.

लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जियामऊ स्थित प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनाये गए मॉडल हाउस का गुरुवार को निरीक्षण किया. जिसमें दो मॉडल हाउस तैयार किये गए. एक लखनऊ डेवलोपमेंट अथॉरिटी द्वारा निर्मित किया गया तो दूसरा राज्य नगरीय विकास अभिकरण द्वारा बनाया गया है. मीडिया से पूछे जाने पर मुख्यमंत्री योगी ने राज्य नगरीय विकास अभिकरण मॉडल को अच्छा बताया है. तो वहीं चलते चलते यह भी कहा कि 4 लाख घर बनाये जाएंगे और आगे इनको बढ़ाया जाएगा.

फिलहाल घर का मॉडल तो बन गया लेकिन गरीबों को किस तरीके से चिन्हित किया जाएगा और किसे यह घर दिया जाएगा इस पर फैसला होना बाकी है. योगी सरकार के मुताबिक जल्द ही दो लाख घर बनाने पर काम शुरू होगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें