scorecardresearch
 

पीएम मोदी के संभावित दौरे से पहले काशी पहुंचे सीएम योगी, विकास कार्यों का लिया जायजा

PM Modi varanasi tour: माना जा रहा है पीएम मोदी इसी महीने 19 जुलाई के आसपास वाराणसी आ सकते हैं. पीएम मोदी का अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में न केवल संभावित दौरा है, बल्कि विकास के लिए वे अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को अरबों रूपए की 39 योजनाओं की सौगात भी देने जा रहें हैं.

काशी दौरे पर सीएम योगी (फोटो- आजतक) काशी दौरे पर सीएम योगी (फोटो- आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • काशी दौरे पर थे सीएम योगी
  • विकास कार्यों की समीक्षा की
  • जुलाई महीने में पीएम मोदी करेंगे दौरा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जुलाई महीने में अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाने वाले हैं. इस दौरान पीएम मोदी तीन दर्जन से ज्यादा विकास योजनाओं के लिए अरबों रुपये की सौगात दे सकते हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोमवार को पीएम मोदी (PM Modi varanasi visit) के संभावित दौरे से पहले वाराणसी के तूफानी दौरे पर पहुंचे. 

अपने एक दिवसीय वाराणसी दौरे के दौरान सीएम योगी (CM Yogi varanasi) ने कोरोना और विकास कार्यों की समीक्षा तो की ही साथ ही पूरे हो चुके और अपने अंतिम स्वरूप की ओर बढ़ रहे विकास की योजनाओं का भी जमीनी निरीक्षण किया. 

माना जा रहा है पीएम मोदी इसी महीने 19 जुलाई के आसपास वाराणसी आ सकते हैं. पीएम मोदी का अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में न केवल संभावित दौरा है, बल्कि विकास के लिए वे अपने संसदीय क्षेत्र की जनता को अरबों रूपए की 39 योजनाओं की सौगात भी देने जा रहें हैं. इसी के मद्देनजर सीएम योगी सोमवार को वाराणसी पहुंचे थे. 

पिछले दो महीने में सीएम योगी चार बार वाराणसी का चक्कर लगा चुके हैं. इससे पहले सीएम योगी 9 मई, 25 मई और 18 जून को वाराणसी आ चुके हैं. सोमवार शाम को गोरखपुर से वाराणसी एयरपोर्ट आने के बाद सीधे वे सर्किट हाउस पहुंचे और सर्किट हाउस सभागार में विकास परियोजनाओं के प्रगति की विस्तार से समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये. 

और पढ़ें- भागवत की नसीहत बेअसर! पटौदी में लव जिहाद के खिलाफ महापंचायत में बीजपी नेता का भड़काऊ भाषण

पिछले 7 वर्षों में रिकॉर्ड विकास परियोजनाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 7 वर्षों में काशी में रिकॉर्ड विकास परियोजनाएं आई और विकास हुआ है. 5-7 वर्षों में बड़े स्तर पर सड़कों का चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण हुआ है. वर्षा के कारण जो सड़क खराब हुई है, उन्हें तत्काल ठीक किया जाए. काशी के कार्यों का संदेश देश-दुनिया को मिले. जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारी समन्वय से विकास कार्यों को गति प्रदान करें. जो कार्य पूर्ण हो चुके हैं उनका स्थलीय सत्यापन व गुणवत्ता देख ली जाए. 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुलिस कमिश्नरेट व्यवस्था का प्रभाव आमजन को महसूस हो. काशी के अंदर पुलिस पेट्रोलिंग तेज करें. ट्रैफिक व्यवस्था और सुदृढ़ की जाए. नगर निगम स्वच्छता को तेजी से बढ़ाएं. वाराणसी विकास प्राधिकरण मानचित्र पास की प्राप्त मामलों को तत्परता से निस्तारित करें. काशी के चौराहों को और सुंदर कर सजाएं. 

जवाबदेही तय करने को बोले सीएम

मुख्यमंत्री ने रमना एसटीपी के सही रूप से कार्य नहीं कर पाने की जानकारी पर असंतोष व्यक्त करते हुए, इसमें जवाबदेही तय करने की बात कही. मुख्यमंत्री ने समस्त विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि उनके विभाग द्वारा के क्रियान्वित कार्यों का संदेश आमजन तक पहुंचाये. उन्होंने बताया गया कि 736.38 करोड़ रुपए की 75 प्रमुख परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं, जबकि इंफ्रास्ट्रक्चर विकास की 417.68 करोड़ रुपए की 64 प्रमुख परियोजनाओ को क्रियान्वित करने के प्रस्ताव तैयार होकर स्वीकृत हो चुके हैं. 

विकास कार्यों पर मीटिंग के बाद सीएम योगी ने अपने एक दिवसीय वाराणसी दौरे के दौरान सोमवार को रात्रि में पांडेयपुर स्थित पं0 दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय परिसर में 18.94 करोड़ रुपए धनराशि लागत से निर्मित 50 शैया महिला चिकित्सालय (एमसीएच विंग), 50.17 करोड़ रुपए लागत से निर्मित वाराणसी गाजीपुर मार्ग पर रेलवे के समपार संख्या 20 स्पेशल पर 3 लेन ऊपरगामी सेतु के निर्माण कार्य और 19.55 करोड़ रुपए से निर्मित गोदौलिया मल्टी लेबल पार्किंग और जापान और भारत की दोस्ती के प्रतीक 186 करोड़ की लागत से तैयार सेंटर शिवलिंग के आकार में निर्मित रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर जैसी पूर्ण हो चुके विकास परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया.

काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे योगी

इसके अलावा मुख्यमंत्री सोमवार देर शाम काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) पहुंचे. उन्होंने बाबा विश्वनाथ की पूजा अर्चना कर प्रदेश वासियों के लिए मंगल कामना की. इस दौरान मुख्यमंत्री ने काशी विश्वनाथ मंदिर के भव्य परिसर का निरीक्षण भी किया. निरीक्षण के दौरान मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि सावन में श्रद्धालुओं के आगमन को देखते हुए प्रवेश और निकास की अलग-अलग व्यवस्था भी की जा रही है. ताकि सावन के श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े. निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री अपने गंतव्य को रवाना हो गए.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें