scorecardresearch
 

CAA: हिंसा के बाद 32 सेक्टरों में बांटा गया लखनऊ, इमामों से शांति की अपील

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुई हिंसा के बाद पुलिस ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. जुमे की नमाज से पहले पूरे लखनऊ को 32 सेक्टर में बांट दिया गया है.

X
लखनऊ में गुरुवार को हुआ था प्रदर्शन लखनऊ में गुरुवार को हुआ था प्रदर्शन

  • नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन तेज
  • लखनऊ प्रशासन ने शहर को 32 सेक्टर में बांटा
  • 21 दिसंबर तक लखनऊ में इंटरनेट बंद

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुरुवार को प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया था. इसी वजह से आज लखनऊ में पुलिस पूरी तरह से अलर्ट पर है. लखनऊ प्रशासन ने पूरे शहर को 32 सेक्टरों में बांट दिया है, जिसके तहत हालात पर नज़र रखी जाएगी. गुरुवार को लखनऊ में हुई हिंसा में पुलिस ने कार्रवाई की है, अभी तक 150 को गिरफ्तार किया गया है जबकि 19 FIR दर्ज की गई हैं.

शुक्रवार को लखनऊ प्रशासन ने इलाके को 32 सेक्टरों में बांटा, इनकी जिम्मेदारी मजिस्ट्रेट को दी गई है. यहां क्षेत्रों में पुलिस, फोर्स की तैनाती की गई है. ताकि हालात को काबू में किया जा सके. इसके साथ ही लखनऊ की पुलिस मस्जिदों के इमामों से बात करेगी, ताकि शांति रखी जा सके.

आपको बता दें कि गुरुवार को ही लखनऊ में विरोध प्रदर्शन के दौरान माहौल हिंसक हो गया था. हसनगंज क्षेत्र में प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की, गाड़ियों में तोड़फोड़ की और आग लगा दी. पुलिस की ओर से लखनऊ में धारा 144 लगाई गई है, साथ ही 21 दिसंबर तक इंटरनेट की सुविधा को बंद कर दिया गया है.

नागरिकता संशोधन एक्ट पर प्रदर्शन की कवरेज क्लिक कर पढ़ें...

गौरतलब है कि गुरुवार को जब लखनऊ में हिंसा हुई थी, उसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उपद्रवियों पर कड़ा एक्शन लेने की बात कही थी. योगी ने कहा था कि प्रदेश में हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी, जो भी उपद्रवी सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, उनकी संपत्ति जब्त की जाएगी और पूरी कीमत वसूली जाएगी.

सिर्फ लखनऊ ही नहीं गुरुवार को संभल में भी प्रदर्शन हुआ था, जहां प्रदर्शनकारियों ने रोडवेज़ की बसों, गाड़ियों में आग लगा दी थी. CAA के विरोध प्रदर्शन की वजह से ही उत्तर प्रदेश के 14 जिलों में इंटरनेट की सुविधा को बंद किया गया है और धारा 144 लागू की गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें