scorecardresearch
 

भदोही: रामलीला का मंच और भीड़ से भरा मां दुर्गा का पंडाल, देखें हादसे के वक्त का Video

भदोही जिले में रविवार को दुर्गा पूजा पंडाल में लगी भीषण आग में झुलसे लोगों ने पूरी घटना का दिल दहलाने वाला मंजर बयां किया है. उस समय का मंजर बताते हुए अलका चौबे रोने लगीं. इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें मंच पर कार्यक्रम के दौरान आग लगती है और भगदड़ मच जाती है.

X
पंडाल में लगी आग के बाद का मंजर
पंडाल में लगी आग के बाद का मंजर

उत्तर प्रदेश के भदोही में दुर्गा पूजा पंडाल में आग लगने का वीडियो सामने आया है. इस बीच औराई कोतवाली में पुलिस ने दुर्गा पूजा आयोजन समिति के अध्यक्ष पर केस दर्ज कर लिया है. समिति के कई अन्य अज्ञात सदस्यों पर भी केस दर्ज किया गया है. अभी तक की एसआईटी जांच में आयोजन समिति की लापरवाही सामने आई है.

इस हादसे में पांच लोगों की जलकर मौत हो गई, जबकि 60 लोग जख्मी हो गए. इस हादसे में एक ही परिवार के 3 सदस्यों की दर्दनाक मौत हुई है. दादी और उसके दो नातियों की मौत इस हादसे में हुई है. पीड़ित परिवार ने सोचा नहीं था कि उनकी नवरात्रि की खुशियां इस तरह हम में बदल जाएंगी. परिवार में कोहराम मचा हुआ है.

पुरुषोत्तमपुर गांव की रहने वाली जय देवी अपने परिवार के कई सदस्यों के साथ दुर्गा पूजा पंडाल में रविवार की रात गई हुई थी. उसी दौरान पंडाल में आग लग गई. इस हादसे में जय देवी और उसके दो नातियों की मौत हो गई है. पूरे गांव में मातम का माहौल बना हुआ है. बड़ी संख्या में लोग मृतकों के परिजनों के घर पहुंच कर सांत्वना दे रहे हैं.

यहां देखिए वीडियो-

 

भदोही जिले में रविवार को दुर्गा पूजा पंडाल में लगी भीषण आग में झुलसे लोगों ने पूरी घटना का दिल दहलाने वाला मंजर बयां किया है. भदोही के ट्रामा सेंटर में भर्ती अलका चौबे अपने परिवार के कई सदस्यों के साथ दुर्गा पूजा देखने आई थी. उसने बताया कि दुर्गा पूजा पंडाल के अंदर एक झांकी कलाकारों द्वारा प्रस्तुती दी जा रही थी. 

अलका चौबे ने कहा कि इसी दौरान पूरे पंडाल में भीषण आग लग गई और अफरा-तफरी का माहौल उत्पन्न हो गया, वहां लोगों को अपनी जान बचाना भारी पड़ रहा था. उस समय का मंजर बताते हुए अलका चौबे रोने लगीं. इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें मंच पर कार्यक्रम के दौरान आग लगती है और भगदड़ मच जाती है.

इस बीच दुर्गा पूजा पंडाल में लगी भीषण आग के मामले में एसआईटी टीम ने अपनी रिपोर्ट डीएम को सौंप दी है, जिसमें बताया गया है कि पंडाल के अंदर विद्युत वायरिंग नियमों की अनदेखी कर की गई थी, जिस मटेरियल से पंडाल का निर्माण किया गया था, वह मटेरियल भी आग पकड़ने वाला था.

एसआईटी की जांच में पता लगा है कि हैलोजन की तपिश से आग लगी थी. डीएम गौरांग राठी ने बताया कि 2 महिलाएं और 3 बच्चों की इस हादसे में मौत हुई है. पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार ने कहा कि मामले में दुर्गा पूजा आयोजक समिति की बड़ी लापरवाही सामने आई है ,समिति के अध्यक्ष बच्चा यादव समेत कई अन्य बातों पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें