scorecardresearch
 

बाराबंकी में ओवैसी ने दिया भड़काऊ भाषण, मोदी-योगी के लिए अभद्र भाषा बोली, केस दर्ज

हैदराबाद से सांसद और AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी गुरुवार को बाराबंकी पहुंचे. यहां उन्होंने भाषण दिया, जिसके बाद उन पर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में केस दर्ज कर लिया गया है. बाराबंकी के एसपी ने बताया कि भाषण के दौरान उन्होंने पीएम मोदी और सीएम योगी के खिलाफ भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था.

असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो-PTI) असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बाराबंकी में ओवैसी के खिलाफ केस दर्ज
  • सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का लगा आरोप
  • कोविड गाइडलाइंस के उल्लंघन का भी आरोप

हैदराबाद से सांसद और AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ बाराबंकी में केस दर्ज कर लिया गया है. असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) गुरुवार को बाराबंकी में थे और यहां उन्होंने भाषण दिया था, जिसके बाद उन पर सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में केस दर्ज कर लिया गया है. बाराबंकी के एसपी ने बताया कि भाषण के दौरान उन्होंने पीएम मोदी (PM Modi) और सीएम योगी (CM Yogi) के खिलाफ भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था.

जानकारी के मुताबिक, कोतवाली में ओवैसी और आयोजक मंडल पर कोविड-19 गाइडलाइंस का उल्लंघन करने और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में केस दर्ज किया गया है. 

बाराबंकी के एसपी यमुना प्रसाद ने बताया कि मोहल्ला चांदा में असदुद्दीन ओवैसी का कार्यक्रम चल रहा था, जिसमें कोविड-19 गाइडलाइंस का खुलेआम उल्लंघन किया गया, साथ ही सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए भड़काऊ भाषण भी दिए गए.

ये भी पढ़ें-- मोहन भागवत के बयान पर ओवैसी का पलटवार- हमारा DNA टेस्ट करवा लें, हम तैयार हैं

उन्होंने बताया कि भाषण में कहा गया कि रामसनेही घाट में 100 साल पुरानी मस्जिद को तुड़वा दिया गया और वहां से उसका मलबा भी हटा दिया गया. ये बात वास्तविकता से बिल्कुल परे है. ऐसा कहके उन्होंने एक समुदाय विशेष को भड़काने और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का काम किया है. 

उन्होंने ये भी बताया कि भाषण के दौरान ओवैसी ने प्रधानमंत्री मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया था. इसलिए ओवैसी और आयोजकों पर कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन करने और सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का केस दर्ज किया गया है. उनके खिलाफ धारा- 153ए, 188, 279 और 270 और महामारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें