scorecardresearch
 

यूपी पंचायत के नतीजों पर AAP बोली- साफ है कि लोग बीजेपी सरकार से निराश हैं

यूपी पंचायत में आम आदमी पार्टी ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है. नतीजों के बाद आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि नतीजों से साफ हो गया है कि यूपी की जनता बीजेपी सरकार से निराश है.

नतीजों के बाद आप सांसद संजय सिंह ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस की. नतीजों के बाद आप सांसद संजय सिंह ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस की.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी के पंचायत चुनाव में आप का अच्छा प्रदर्शन
  • संजय सिंह बोले, जीते प्रत्याशी लोगों की मदद करें

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद और उत्तर प्रदेश के प्रभारी संजय सिंह ने कहा कि यूपी की जनता ने पंचायत चुनाव में बीजेपी को नकार दिया है और आम आदमी पार्टी के 83 जिला पंचायत सदस्य, 300 प्रधान और 232 बीडीसी प्रत्याशियों को जीता कर दिल्ली में केजरीवाल मॉडल पर मुहर लगा दी है. यूपी के 40 लाख मतदाताओं ने वोट देकर आप में विश्वास जताया है. यूपी की जनता को श्मशान की राजनीति नहीं चाहिए, बल्कि दिल्ली की तरह ही मुफ्त बिजली, पानी, अस्पताल और शिक्षा चाहिए.

उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में उत्तर प्रदेश की जनता ने जो चुनाव परिणाम दिया है, वो स्पष्ट संकेत है कि योगी आदित्यनाथ की सरकार से, भारतीय जनता पार्टी की सरकार से लोगों में घोर निराशा है और लोगों ने बीजेपी को पूरी तरह से नकार दिया है. पंचायत चुनाव के जो परिणाम आए हैं, उसने ये भी साबित किया है कि इस कोरोना महामारी के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार श्मशानों को ढंकने में लगी रही, ऑक्सीजन बेड और जांच का इंतजाम नहीं किया और शव जलाने के लिए भी लोगों को लंबी-लंबी कतारें लगानी पड़ीं. ऐसा मुश्किल दौर उत्तर प्रदेश के लोगों ने शायद कभी नहीं देखा होगा, जो इस समय देख रहे हैं.

उन्होंने अपील की कि जो भी हमारे जीते हुए प्रत्याशी हैं, वो चाहे जिला पंचायत के हों, प्रधान के हों या बीडीसी के हों, इस आपदा के दौरान अपने आप को सुरक्षित रखते हुए उत्तर प्रदेश के लोगों की जितनी मदद कर सकते हैं, मदद करें.

उन्होंने कहा कि यूपी में लोगों को अस्पताल जाने के लिए एंबुलेंस का घंटों इंतजार करना पड़ रहा है. इसलिए आप लखनऊ समेत कई जिलों में ऑटो एंबुलेंस सेवा शुरू करेगी. यूपी सरकार लोगों की मदद करने की बजाय उन पर मुकदमे दर्ज कर रही है, ये निंदनीय और हिटलरशाही है. सुप्रीम कोर्ट से अपील है कि यूपी में ऑक्सीजन आदि की शिकायत करने वालों पर दर्ज मुकदमे का संज्ञान लेते हुए अधिकारियों पर कार्रवाई करें.

संजय सिंह ने यूपी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, अस्पतालों में लोगों को पहुंचने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है, लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ रहा है. इस कोरोना के दौरान ऐसी-ऐसी तस्वीरें सामने आईं, जो आपके दिल को दहला देती हैं. बेटा पुलिस वालों के सामने गिड़गिड़ा रहा है. वो अपनी मां को बचाने के लिए ऑक्सीजन का सिलेंडर मांग रहा है, लेकिन पुलिस के लोग ऑक्सीजन के सिलेंडर छीनकर लेकर चले जाते हैं. यूपी के श्मशानों में शवों को जलाने के लिए लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ रहा है. 

उन्होंने कहा, कल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने टिप्पणी की है और साफ तौर से कहा है कि ऑक्सीजन की कमी के चलते जो उत्तर प्रदेश में मौतें हुई हैं, वो किसी नरसंहार से कम नहीं हैं. लेकिन अफसोस होता है कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कहीं कुछ नहीं दिख रहा है. उनको चारों तरफ हरियाली दिख रही है. उन्होंने बेशर्मी भरा बयान दिया और कहा है कि उत्तर प्रदेश में न के बराकर केस हैं, ऑक्सीजन की कमी नहीं है, बेड की कमी नहीं है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें