scorecardresearch
 
उत्तर प्रदेश

गूगल मैप के जरिए करते थे चोरी, गैंग के 4 सदस्य गिरफ्तार, सोने-चांदी का सामान बरामद

गूगल मैप के जरिए चोर करते थे चोरी.
  • 1/6

लखनऊ पुलिस ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है जो गूगल मैप के जरिए बड़ी-बड़ी चोरियों की वारदात को अंजाम देता था. आपको सुनकर हैरानी जरूर होगी की चोरों ने अपनी लाखों की चोरी के मंसूबे को गूगल मैप के जरिए पूरा कर डाला. लखनऊ पुलिस ने इस गैंग के सरगना सहित चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है.

गूगल मैप के जरिए चोर करते थे चोरी.
  • 2/6

पुलिस ने जब जांच की तो इनके पूरे कारनामों का खुलासा हुआ. पुलिस ने बताया कि ये चोर दूसरे राज्य से उत्तर प्रदेश में गूगल मैप के जरिए चोरी करते थे. पुलिस ने इनके पास से भारी मात्रा में चांदी और सोने का सामान बरामद किया है. साथ ही लाखों रुपये का कैश भी बरामद किया है.

गूगल मैप के जरिए चोर करते थे चोरी.
  • 3/6

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के विकास नगर थाना क्षेत्र पुलिस ने इंटर स्टेट चोरों के गैंग के सरगना सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है. एडीसीपी नॉर्थ जोन राजेश कुमार श्रीवास्तव के मुताबिक, गैंग के सभी चोर उत्तराखंड के रहने वाले हैं. ये लोग कुछ समय पहले गूगल मैप के जरिए लखनऊ आए थे. 

गूगल मैप के जरिए चोर करते थे चोरी.
  • 4/6

इसी तरह चोरों ने साईं मंदिर में चोरी की बड़ी वारदात को अंजाम दिया था. चोरों ने पूछताछ में बताया कि उन्होंने साईं मंदिर से लगभग 35 लाख रुपये की चोरी की थी. इसके लिए गैंग के सदस्यों ने गूगल मैप के जरिए पहले साईं मंदिर की रेकी की और उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल करने के बाद गूगल मैप के सहारे ही चोरी की घटना को अंजाम दिया था.

गूगल मैप के जरिए चोर करते थे चोरी.
  • 5/6

पुलिस ने चोरों के पास से एक कार, 15 किलो चांदी का छत्र, दो चांदी के शेर, चरण पादुका, अवैध तमंचा और सोने की चेन बरामद की है. चार चोरों में से एक चोर 5000 का इनामी बदमाश भी है. पकड़े गए अंतरराज्यीय चोरों पर लगभग दो दर्जन से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं.

गूगल मैप के जरिए चोर करते थे चोरी.
  • 6/6

उत्तरी लखनऊ के एडीसीपी राजेश कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि विकास नगर पुलिस को इन चोरों को पकड़ने में बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने सर्विलांस की मदद से इन लोगों का पता लगाया गया. साथ ही टोल प्लाजा पर सीसीटीवी खंगाले जिससे इनके बारे में पता चला. इनमें से ज्यादातर चोरों पर कई मुकदमे दर्ज हैं. इनके पास से काफी चांदी-सोना और कैश बरामद किया गया है. इससे पहले भी यह लोग अन्य जिलों में चोरी कर चुके हैं और चोरी के बाद वापस उत्तराखंड भाग जाते थे.