scorecardresearch
 

ममता बनर्जी ने उन्नाव रेप केस पर उठाए सवाल, पूछा- लड़की को क्यों नहीं मिली सुरक्षा

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का एक बयान आया है, जिसमें उन्होंने कहा कि राज्य में पुलिस को साफ निर्देश है कि रेप केस में आरोपी की तत्काल गिरफ्तारी की जाए और 3-10 दिन में चार्जशीट दाखिल की जाए.

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (फाइल फोटो) पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (फाइल फोटो)

  • ममता ने रेप, महंगाई, एनआरसी समेत कई मुद्दों पर साधा निशाना
  • 'बंगाल में रेप केस में 3-10 दिन में चार्जशीट दाखिल करने के निर्देश'

हैदराबाद गैंग रेप-मर्डर केस के चारों आरोपियों को शुक्रवार तड़के एनकाउंटर में मारे जाने की घटना पर पूरे देश में प्रतिक्रियाएं व्यक्त की जा रही हैं. इस घटना के बाद न्यायिक प्रक्रिया में इंसाफ में होने वाली देरी को लेकर भी बहस छिड़ी हुई है.

ऐसे में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का एक बयान आया है, जिसमें उन्होंने कहा कि राज्य में पुलिस को साफ निर्देश है कि रेप केस में अभियुक्त की तत्काल गिरफ्तारी की जाए और 3-10 दिन में चार्जशीट दाखिल की जाए. ममता बनर्जी के मुताबिक राज्य में एक रेप केस में 3 दिन में ही फास्ट ट्रैक कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी गई.

रेप पीड़िता की सुरक्षा पर उठाए सवाल

ममता बनर्जी ने अपनी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कार्यक्रम में बुधवार को यूपी के उन्नाव की घटना का जिक्र किया. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘उन्नाव की घटना जानकर मेरी रीढ़ कंपकंपा गई. क्यों नहीं रेप पीड़िता को सुरक्षा दी गई? लड़की 90% जली हालत में एक किलोमीटर तक भागी. किसी ने उसकी मदद नहीं की.’

मुख्यमंत्री के मुताबिक ऐसे मामलों में अभियुक्त की तत्काल गिरफ्तारी और फिर जल्द से जल्द चार्जशीट मायने रखता है. ममता बनर्जी ने कहा, ‘यही कानून है. अभियुक्त को गिरफ्तार कर कोर्ट के सामने पेश किया जाए और फिर कानून अपना काम करे.’

ममता बनर्जी ने कहा, ‘मालदा में हुई एक घटना को बीजेपी नेता ने रेप केस बताया है. असल में लड़की को जलाए जाने से उसकी मौत हुई लेकिन हमें पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतज़ार करना होगा.’

ममता बोलीं- हम दंगों की राजनीति में विश्वास नहीं रखते

टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कहा, ‘हम दंगों की राजनीति में विश्वास नहीं रखते हैं. हमने पार्टी में कभी कोई ऐसा फैसला नहीं लिया जो संविधान या लोगों के खिलाफ हो. मैं सब कुछ त्याग सकती हूं लेकिन अपने आदर्शों को नहीं छोड़ सकती. हम लोगों को बांटते नहीं हैं. हम हर दिन हिन्दू और मुस्लिमों को सुनते हैं.’ ममता ने संभवत: NRC मुद्दे को लेकर कहा, “अब वो ‘घुसपैठिया’ शब्द का इस्तेमाल कर रहे हैं.”

प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर सरकार पर निशाना

प्याज की बढ़ी कीमतों समेत महंगाई को लेकर ममता ने कहा कि ये केंद्र का विषय है. ममता ने कहा, “एक केंद्रीय मंत्री कह रही हैं कि वो प्याज-लहसुन नहीं खातीं. हमने केंद्र से 200 मीट्रिक टन प्याज की मांग की है. NABARD ने हमें 20 मीट्रिक टन प्याज भेजा है जिसमें आधा सड़ा हुआ निकला. केंद्र सरकार सिर्फ NRC (राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर) और CAB (नागरिकता संशोधन बिल) पर ही पैसा खर्च कर रही है.”

ममता बनर्जी ने कहा, “आधार पुख्ता सबूत है कि लोग किस तरह इसे बैंक खाते से जोड़ने पर पैसा खो रहे हैं. वो क्यों हिन्दुस्तान और पाकिस्तान कर रहे हैं? ऐसा करके पाकिस्तान का क्यों महिमामंडन किया जा रहा है. हमें पाकिस्तान पर बात कर उसे किसी तरह की अहमियत नहीं देनी चाहिए. हमारे लिए सिर्फ़ भारत महत्वपूर्ण होना चाहिए. देश में बेरोजगारी 40% बढ़ गई है जबकि हमने राज्य में बेरोजगारी 40% घटाई है.”

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें