scorecardresearch
 

ट्विटर ने बंद किया आतंकी सरगना हाफिज सईद का अकाउंट

जमात उद दावा के मुखि‍या और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का ट्विटर अकाउंट फिलहाल बंद कर दिया गया है. कश्मीरियों को भारत से आजादी दिलाने के लिए पाकिस्तानियों से अपील करने के कुछ दिनों बाद यह कार्रवाई की गई है.

सस्पेंड होने से पहले हाफिज सईद का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने से पहले हाफिज सईद का ट्विटर अकाउंट

जमात उद दावा के मुखि‍या और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का ट्विटर अकाउंट फिलहाल बंद कर दिया गया है. आपको बता दें कि 'टीवी टुडे नेटवर्क' के मैनेजिंग एडिटर राहुल कंवल ने हाल में कुछ ट्वीट किए थे जिसमें उन्होंने हाफिज सईद के खि‍लाफ अपनी राय रखी थी.

राहुल कंवल के इन ट्वीट्स के बाद ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने हाफिज सईद के खि‍लाफ यह कार्रवाई की. इस तरह सईद का ट्विटर एकाउंट @HafizSaeedJuD अब ‘अकाउंट सस्पेंडेड’ पढ़ा जाएगा.

मीडिया में आई कुछ खबरों में कहा गया है कि सईद ने ट्विटर पर एक्ट‍िव होने के लिए दो नए अकाउंट बनाए थे. सईद के प्रवक्ता या जेयूडी के किसी सदस्य की तरफ से इस बारे में फिलहाल कोई बयान नहीं आया है.

पाकिस्तान सरकार की मदद पा रहे सईद ने शुक्रवार को अपने समर्थकों से कहा था कि पाकिस्तानियों को आगे आना चाहिए और भारत से आजादी पाने में कश्मीरियों की मदद करनी चाहिए.

हाफिज ने लाहौर के ऐतिहासिक मीनार-ए-पाकिस्तान मैदान में जेयूडी के एक मजमे को संबोधित करते हुए कहा था, 'यदि अमेरिका की मदद के लिए अफगानिस्तान में भारत सैनिक भेज सकता है तो मुजाहिदीन के पास कश्मीर जाने का और अपने भाइयों की मदद करने का पूरा हक है. कश्मीरी मदद की गुहार लगा रहे हैं और यह हमारा कर्तव्य है कि हम उनकी अपील का जवाब दें.'

आपको बता दें कि यूएन ने जेयूडी को एक आतंकवादी संगठन घोषित कर रखा है और दिसंबर 2008 में सईद को आतंकवादी घोषित कर दिया था. जून 2014 में अमेरिका ने जेयूडी को लश्कर ए तैयबा का सहयोगी गुट घोषित कर दिया था.

सईद के सिर पर एक करोड़ डॉलर का इनाम है. लेकिन, वह पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहा है. वह अक्सर रैलियों को भी संबोधित करता है जिसमें नियमित रूप से भारत के खिलाफ भड़काऊ भाषण देता है.

पाकिस्तान ने कहा है कि सईद के खिलाफ कोई मामला नहीं है और इसलिए वह एक पाकिस्तानी नागरिक के रूप में आजाद घूम सकता है. भारत ने 2008 के मुंबई आतंकवादी हमलों में उसकी भूमिका को लेकर उससे पूछताछ करने के लिए उसे सौंपे जाने की पाकिस्तान से बार बार मांग की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×