scorecardresearch
 

राम मंदिर के बाद मथुरा और काशी में बने मंदिर: सुब्रमण्यम स्वामी

सुब्रमण्यम स्वामी का यह बयान राम मंदिर विवाद को बातचीत से सुझलाने की सलाह पर चर्चा करते हुए आया था. उन्होंने कहा कि अगर यह मामला बातचीत से सुलझता है तो ठीक है, नहीं तो अप्रैल 2018 तक कानून बनाकर भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा. क्योंकि तब तक बीजेपी को राज्यसभा में बहुमत मिल जाएगा.

 बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी

राम मंदिर के मुद्दे पर कोर्ट में लड़ाई लड़ रहे बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि 2019 के बाद मथुरा और काशी में मूल मंदिर को लेकर अपना अभियान छेड़ेंगे. सुब्रमण्यम स्वामी ने 'आज तक' से बातचीत में कहा कि मुगलों द्वारा 40 हज़ार मंदिरों को तोड़ा गया था, उसकी लिस्ट हमारे पास है.

उन्होंने कहा कि ये बात व्यावहारिक नहीं लगती कि 40 हज़ार मंदिरों को फिर से बनाया जाए लेकिन हमने ये बात रखी कि 3 प्रमुख मंदिरों को फिर से बनाया जाए. जिसमें एक काशी विश्वनाथ, दूसरा मथुरा और तीसरा राम लला का मंदिर है. राम लला के मंदिर को लेकर मैं काम कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि 2019 के बाद मथुरा और काशी के मंदिर बनाने के लिए काम करूंगा. 2019 के पहले राम मंदिर को लेकर हमारी तरफ से काम किया जा रहा है. उसके बाद मथुरा और काशी के मंदिर के अभियान छेड़ेंगे.

सुब्रमण्यम स्वामी का यह बयान राम मंदिर विवाद को बातचीत से सुझलाने की सलाह पर चर्चा करते हुए आया था. उन्होंने कहा कि अगर यह मामला बातचीत से सुलझता है तो ठीक है, नहीं तो अप्रैल 2018 तक कानून बनाकर भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा. क्योंकि तब तक बीजेपी को राज्यसभा में बहुमत मिल जाएगा.

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा था कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 2003 में साफ कर दिया था कि विवादित स्थल पर मंदिर का ढांचा मौजूद है. राज्यसभा सांसद का यह भी कहना था कि अयोध्या में मंदिर तोड़कर बाबरी मस्जिद को बनाया गया था, जहां हिंदू लंबे समय से मंदिर बनाने की मांग कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें