scorecardresearch
 

पाकिस्तान में मरियम नवाज से मिलकर आते, तो असली पंजाबी होते सिद्धू: तारिक फतह

पाकिस्तानी लेखक तारिक फतह ने कहा कि पहली बात तो सिद्धू को पाकिस्तान जाना ही नहीं चाहिए था, लेकिन अगर गए ही थे, तो आर्मी चीफ बाजवा की बजाय जेल में बंद मरियम नवाज से मिलकर आते तो असली पंजाबी कहलाते.

तारिक फतह और श्वेता सिंह तारिक फतह और श्वेता सिंह

पाकिस्तानी लेखक तारिक फतह ने पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने और वहां के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा से गले मिलने की कड़ी आलोचना की है. 'आजतक' के खास कार्यक्रम 'सीधी बात' में एक सवाल का जवाब देते हुए तारिक फतह ने कहा कि इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने पाकिस्तान जाने और वहां के आर्मी चीफ बाजवा से गले मिलने का सिद्धू का कदम गलत था.

उन्होंने कहा कि पहली बात तो सिद्धू को पाकिस्तान जाना ही नहीं चाहिए था, लेकिन अगर गए ही थे, तो आर्मी चीफ बाजवा की बजाय जेल में बंद मरियम नवाज से मिलकर आते तो असली पंजाबी कहलाते. इस दौरान तारिक फतह ने जेल में बंद पूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज की जमकर तारीफ की.

उन्होंने कहा कि मरियम आज दुनिया की सबसे बहादुर लेडी हैं. इससे पहले पाकिस्तान में किसी जमाने में बेनजीर भुट्टो सबसे बहादुर लेडी थीं, जिनको मार दिया गया. पाकिस्तान में किस-किसको नहीं मारा गया? पाकिस्तान में ऐसा कानून है कि कोई भी किसी का कत्ल करके रिहा हो सकता है. इसके लिए उसको सिर्फ पैसे देने पड़ते हैं.

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने पाकिस्तान गए थे और वहां पर आर्मी चीफ बाजवा से गले मिले थे, जिसको लेकर काफी बवाल हुआ था. बीजेपी समेत कई राजनीतिक और गैर राजनीतिक संगठनों ने उनकी कड़ी आलोचना की थी.

इसके अलावा खुद को भारत का एजेंट बताए जाने के सवाल पर तारिक फतह ने कहा, 'मैं बलूचिस्तान का एजेंट हूं और सिंध में पैदा हुआ हूं. सिंध के एजेंट को हिंदुस्तान का एजेंट बताया जाना मेरे लिए गर्व की बात है.' उन्होंने कहा कि सिंध हिंद का हिस्सा है. हिंदुस्तान को इसे गले लगाना चाहिए. भारतीय नागरिकता हासिल करने के सवाल पर उन्होंने कहा, 'अगर हिंदुस्तान मुझे नागरिकता दे देता है, तो बहुत बेहतर है, लेकिन अगर नहीं देता है, तो मैं कोई भागा नहीं फिर रहा हूं.'

इस दौरान उन्होंने यह भी दावा किया कि इमरान खान पाकिस्तान को कतई नहीं बदल सकते हैं. इमरान खान के हाथ में कुछ भी नहीं हैं. सेना का उन पर पूरा नियंत्रण हैं. पाकिस्तानी पीएम इमरान की तीसरी बेगम सेना की एजेंट है. इसके जरिए पाकिस्तानी सेना ने प्रधानमंत्री के बेडरूम तक पहुंच बनाई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें