scorecardresearch
 

राहुल गांधी बोले- PM मोदी मार्केटिंग तो अच्छी करते हैं, लेकिन...

केंद्र और राज्य सरकार पर एक के बाद एक तीखे बाण चलाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार देश के कमजोर लोगों को भूल गई है. सरकार का ध्यान सिर्फ चुनिंदा कॉरपोरेट घरानों पर है.

X
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को अपनी दो दिवसीय मुंबई दौरे की शुरुआत की. उनका यह दौरा ऐसे वक्त में हो रहा है जब मुंबई कांग्रेस में कथित गुटबाजी की खबरें सामने आ रही हैं. पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा. राहुल ने कहा कि पीएम मार्केटिंग बहुत अच्छी करते है, लेकिन काम के समय शांत हो जाते हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, 'मोदी जी की मार्केटिंग बहुत अच्छी है, भाषण भी अच्छी देते हैं, लेकिन जब काम करने की बात होती है तब मोदी जी शांत हो जाते हैं.' उन्होंने आगे कहा, 'मोदी जी ने स्वच्छ मुंबई के बारे में बात की, लेकिन वह सिर्फ झाड़ू से नहीं हो सकता.'

'नीचे गिर रहा है बीजेपी-शिवसेना का ग्राफ'
केंद्र और राज्य सरकार पर एक के बाद एक तीखे बाण चलाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार देश के कमजोर लोगों को भूल गई है. सरकार का ध्यान सिर्फ चुनिंदा कॉरपोरेट घरानों पर है. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने महाराष्ट्र सरकार बीजेपी-शिवसेना गठबंधन पर भी जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बीजेपी-शिवसेना का ग्राफ तेजी से नीचे गिर रहा है.

उन्होंने कहा, 'कांग्रेस बदलाव चाहती है और मुंबई को साफ बनाना चाहती है, लेकिन सबसे पहले हमें चुनाव जीतने होंगे.' कांग्रेस उपाध्यक्ष 16 जनवरी को उपनगर विले पार्ले में एक प्रबंधन संस्थान के छात्रों से बातचीत करेंगे और इसके बाद बांद्रा बैंडस्टैंड से धारावी झुग्गी बस्ती इलाके तक पदयात्रा में भाग लेंगे.

मो. रफी के बेटे कांग्रेस में शामिल
राहुल गांधी के संबोधन के बीच मशहूर पार्श्व गायक मोहम्मद रफी के बेटे शाहिद रफी कांग्रेस में शामिल हो गए. राहुल गांधी ने मंच पर उनका स्वागत भी किया.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने दक्षिण मुंबई में मुंबई क्षेत्रीय कांग्रेस समिति कार्यालय में मुरली देवड़ा हॉल का भी उद्घाटन किया.

गुटबाजी के बीच जीत का मंत्र
गौरतलब है‍ कि राहुल गांधी के दौरे के कार्यक्रमों पर चर्चा के लिए दो दिन पहले हुई पार्टी की बैठक में खूब हंगामा हुआ. बैठक में उन प्रतिद्वंद्वी गुटों ने नारेबाजी की जो यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि राहुल की रैली के मार्ग में विशेष इलाकों को कवर किया जाए.

कुछ मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि पार्टी विधायकों नसीम खान और असलम शेख के बीच लड़ाई होने की नौबत आ गई थी. हालांकि, दोनों नेताओं ने इस बात से इनकार किया है. इससे पहले कांग्रेस आलाकमान ने मुंबई कांग्रेस प्रमुख संजय निरूपम से पार्टी की एक पत्रिका में छपे उन दो लेखों के बारे में सफाई मांगी थी, जिनमें जवाहर लाल नेहरू की आलोचना की गई थी और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के पिता को फासीवादी सैनिक बताया गया था.

पार्टी के वरिष्ठ नेता एके एंटनी की अध्यक्षता में एआईसीसी की अनुशासनात्मक कार्य समिति ने भी निरूपम को कारण बताओ नोटिस जारी किया था. निरूपम के करीबी लोगों का आरोप है कि मीडिया में लेख संबंधी सूचना मुंबई कांग्रेस में उनके प्रतिद्वंद्वियों ने लीक की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें