scorecardresearch
 

सरकारी वकील का आरोप, सुनवाई को लंबा खींचने की को‍श‍िश कर रहे हैं आसाराम के वकील

सरकारी वकील ने आसाराम के वकील पर नाबालिग से रेप में आरोपी आसाराम की सुनवाई को लंबा खींचने का आरोप लगाया है. सरकारी वकील ने कहा कि आसाराम की गिरफ्तारी के एक साल बाद भी मामले की सुनवाई में अधिक प्रगति नहीं हो पाई है. ऐसा बचाव पक्ष की सुनवाई को लंबा खींचने की रणनीति के कारण हुआ है.

आसाराम की फाइल फोटो आसाराम की फाइल फोटो

सरकारी वकील ने आसाराम के वकील पर नाबालिग से रेप के आरोपी आसाराम की सुनवाई को लंबा खींचने का आरोप लगाया है. सरकारी वकील ने कहा कि आसाराम की गिरफ्तारी के एक साल बाद भी मामले की सुनवाई में अधिक प्रगति नहीं हो पाई है. ऐसा बचाव पक्ष की सुनवाई को लंबा खींचने की रणनीति के कारण हुआ है.

सरकारी वकील आरएल मीणा ने कहा, 'केस की सुनवाई 19 मार्च को शुरू हुई थी और हम उम्मीद कर रहे थे कि यह पांच-छह महीने में समाप्त हो जाएगी, लेकिन बचाव पक्ष द्वारा एक के बाद एक 20 अर्जियां दायर करके सुनवाई लंबा खींचने के लगातार प्रयासों के कारण सुनवाई में मुश्किल से कोई प्रगति हो पाई है.' इसके साथ ही अदालतों में हड़ताल के कारण भी गत 40 दिनों से सुनवाई बाधित है.

मीणा ने कहा कि यह सब बीते साल आठ नवंबर को हाई कोर्ट द्वारा जिला एवं सत्र अदालत को सुनवाई दिन-प्रतिदिन के आधार पर करने का आदेश देने के बावजूद हुआ है. जिला एवं सत्र अदालत इस मामले की सुनवायी बंद कमरे में कर रही है. सरकारी वकील ने कहा कि बीते पांच महीने के दौरान अभियोजन पक्ष के 58 गवाहों में से मात्र 11 से परीक्षण हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें