scorecardresearch
 

NDA सरकार के दो साल पर PM मोदी का बड़ा ऐलान- अब 65 की उम्र में ही रिटायर होंगे डॉक्टर

अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं. लिहाजा, प्रधानमंत्री की सहारनपुर रैली को चुनावी शंखनाद भी माना जा रहा है.

रैली मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह व अन्य नेता रैली मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह व अन्य नेता
41:29

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में एनडीए सरकार ने गुरुवार को दो साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है. इस उपलक्ष्य में बीजेपी के मेगा इवेंट की शुरुआत यूपी के सहारनपुर से हुई है. राज्य में चुनावी सुगबुगाहट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सहारनपुर में रैली को संबोधि‍त किया. इस दौरान उन्होंने चिकित्सा के क्षेत्र में बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अब देश के हर राज्य में डॉक्टर 62 की बजाय 65 की उम्र में रिटायर होंगे.

पढ़ें, सहारनपुर में मोदी की रैली की 10 बड़ी बातें...

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि देश में डॉक्टरों की भारी कमी है और इससे निपटने के लिए सरकार रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने जा रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अगले हफ्ते इस और बैठक करेगी और जरूरी कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने देशभर के डॉक्टरों से अपील की कि वह हर महीने की 9 तारीख को मुफ्त में गरीब गर्भवती महिलाओं का इलाज करें.

सहारनपुर रैली में पीएम मोदी का संबोधन-

- आइए ऐसा माहौल बनाएं कि सरकार देश के लिए काम करे और देश सरकार के लिए काम करे.

- यह देश सिर्फ विकास के बल पर आगे बढ़ सकता है.

- अगर पूर्व की सरकारों ने अधि‍क मेडिकल कॉलेज बनाए होते तो हमें आज डॉक्टरों की कमी नहीं झेलनी पड़ती.

- देश में डॉक्टरों की कमी है. अब देश के हर राज्य के डॉक्टर 62 के बजाय 65 साल में रिटायर होंगे.

- अगर देश के 1 करोड़ लोग गैस की सब्स‍िडी छोड़ सकते हैं तो देश के डॉक्टर भी 12 महीनों में 12 दिन गरीब गर्भवती माताओं को दे सकते हैं.

- मैं डॉक्टर मित्रों से चाहता हूं कि हर महीने की नौ तारीख को कोई गरीब गर्भवती माता आती है, तो मुफ्त में जांच करेंगे, दवा देंगे.

- यह स्वच्छता अभि‍यान किसके लिए है, अमीरों के लिए नहीं है. गरीबों के लिए है. गरीब बीमार होते हैं तो उनका रोजगार छिन जाता है.

- लोगों ने स्वच्छता अभि‍यान को अपना लिया है. लोग अब एक-दूसरे को टोकते हैं कि मोदी जी ने कहा है कचड़ा मत फेंकिए.

- मैं एक स्वच्छता का अभ‍ियान चलाता हूं. मैं देशवासियों, मीडिया, सामाजिक संस्थाओं और खासकर युवाओं का आभारी हूं.

- ये बैंक गरीबों के काम आने चाहिए. हमने कहा कि छोटे-छोटे कारोबारी को पैसे चाहिए तो साहूकार के पास नहीं जाना पड़े, वह बैंक पहुंचे.

- हम प्रधानमंत्री मुद्रा योजना लेकर आए. हम चाहते हैं कि जो लोग छोटा-छोटा काम करते हैं वह बैंकों से पैसे ले सके.

- देश के हर नौजवान को काम मिलना चाहिए.

- मैं उत्तर प्रदेश के सभी गांवों में बिजली पहुंचाने का काम पूरा कर के रहूंगा.

- आजादी को सत्तर साल होने वाले हैं, लेकिन गांवों में बिजली नहीं है. पक्की सड़क नहीं है.

- हमने तय किया है हिंदुस्तान के हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ने का. हमारी सरकार में पिछली सरकार के मुकाबले दोगुनी तेजी से सड़क का निर्माण हो रहा है.

- जब तक देश की हर बेटी नहीं पढ़ेगी, नहीं बढ़ेगी, देश का कर्ज रहेगा.

- मैं जब बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करता हूं तो सवा सौ करोड़ के परिवार की हर बेटी की बात करता हूं.

- मेरे लिए सवा सौ करोड़ लोग मेरा परिवार है.

- फैशन चल गया है कि योजनाओं को जाति, संप्रदाय से जोड़ दिया जाए.

- आने वाले में तीन सालों में 5 करोड़ गरीब परिवारों को जहां लकड़ी का चूल्हा जलता है, गैस कनेक्शन दिया जाएगा.

- हमने तीन करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त रसोई गैस का कनेक्शन दिया.

- मैंने देशवासियों से कहा कि अगर आप आर्थि‍क रूप से रसोई गैस की सब्सि‍डी छोड़ सकते हैं, एक करोड़ से ज्यादा लोगों ने सब्सि‍डी छोड़ दी.

- क्या कभी दो साल में आपने कोई खबर ऐसी सुनी है, जिसमें मोदी सरकार ने एक रुपया भी खाया हो.

- मैं चौंक जाता हूं कि क्या लोगों को कुर्सी पर जनता जनार्दन के पैसों की लूट के लिए बिठाया जाता है.

- आप दो साल पहले की खबरों को याद कर लीजिए. आए दिन एक नए भ्रष्टाचार की खबर आती थी. बड़े-बड़े लोग भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं

- हम ऐसी फसल बीमा योजना लाए हैं कि किसान खेत के अंदर अपनी फसल काटकर रखे और ऐसे समय भी आपदा आ गई तो उसको बीमा मिलेगा.

- पहली बार हमने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शुरू की.

- हमने प्राकृतिक आपदा को लेकर किसानों को मुआवजा का नियम बदला.

- हम चाहते हैं कि गांव का पानी गांव में रहे. अगर किसानों को समय से पानी मिले तो वह आत्मनिर्भर बनता है.

- हम धरती मां की चिंता करते हैं. वैज्ञानिक तरीके से जमीन का रखरखाव करना जरूरी है. इसलिए हमने स्वायल हेल्थ कार्ड शुरू किया.

- हम उन नीतियों को आगे बढ़ाना चाहते हैं, ताकि 2022 तक किसान भाइयों की आय दोगुनी हो जाए.

- मैं राज्य सरकार से आग्रह करता हूं और शुगर मिलों को चेतावनी देता हूं- इतने साल आपने किसानों के साथ जो किया है, अब वो नहीं करने दिया जाएगा.

- आज बहुत बड़ी मात्रा में हमने पुराने भुगतान का काम अलग-अलग योजनाओं से करवाया.

- हमने कोशि‍श की कि गन्ना किसानों को उनके भुगतान के पैसे समय से मिले.

- यह देश बदल रहा है, लेकिन कुछ लोगों का दिमाग नहीं बदल रहा है.

- हमने उन योजनाओं को हाथ लगाया, जिससे देश के गरीबों के जीवन में बदलाव आए.

- गांव के जीवन में बदलाव लाने, सुख सुविधा के लिए हमने लाखों-करोड़ो रुपये दिए.

- हमने नगर पालिका, नगर निगम को, गांव पंचायतों को अधि‍क से अधि‍क धन पहुंचाने का काम किया.

- मैंने प्रधानमंत्री बनते ही फैसला किया कि अब राज्यों के खजाने में 65 प्रतिशत धन रहेगा, 35 फीसदी ही दिल्ली के खाते में.

- मैं सीएम रह चुका हूं. राज्यों का दर्द जानता हूं.

- पहले दिल्ली सरकार के पास जो खजाना होता था, उसमें 65 प्रतिशत धन दिल्ली के खजाने में था, 35 फीसदी राज्यों के खजाने में.

- कोई गरीब मां-बाप यह नहीं चाहता कि उसके संतान को विरासत में गरीबी मिले.

- हमने दो साल में उन कामों को हाथ में लिया है, जो गरीबों को गरीबी की लड़ाई लड़ने की ताकत दे.

- मैंने अपने पहले भाषण में कहा था कि मेरी सरकार इस देश के गरीबों को समर्पित है.

- बीते दो सालों में देश ने हमारे काम को देखा है, परखा है.

- मैं ठीक इसी समय यूपी की जनता को अपने देश को कामकाज का हिसाब देने आया हूं.

- आज के दिन दो साल पहले इसी समय मैं और हमारे साथी राष्ट्रपति भवन में शपथ ले रहे थे.

- यहां का होने के नाते मेरा स्वाभाविक मन करता है आपका आशीर्वाद प्राप्त करने का.

- मैं उत्तर प्रदेश वाला हूं. यूपी का सांसद हूं.

यूपी में खत्म हो बीजेपी का वनवास: राजनाथ
पीएम मोदी के साथ मंच पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद हैं. प्रधानमंत्री से पहले अपने संबोधन में राजनाथ सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार जनता के प्रति अपनी जवाबदेही को समझती है और इस ओर अपने कर्तव्यों का पालन करने से कभी पीछे नहीं हटेगी.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह का संबोधन-

- यूपी में बीजेपी का वनवास समाप्त होना चाहिए.

- हमने जुगाड़ को पूरी छूट दी. हमने जनता से कहा कि पूरी छूट है कोई माई का लाल आपको नहीं रोक सकता.

- प्रधानमंत्री के दिल में किसानों का दर्द है.

- जब कभी भी राज्य में हमारी सरकार बनी, हमने कानून व्यवस्था का पूरा खयाल रखा.

- मैं यूपी सरकार से अनुरोध करता हूं कि राज्य में कानून व्यवस्था में सुधार लाएं.

- कानून और व्यवस्था की स्थि‍ति यूपी में बद से बदतर हो चुकी है.

- इंटरनेट की मदद से आठ राज्यों में राष्ट्रीय कृषि‍ मंडी शुरू की.

- हमने स्वायल हेल्थ कार्ड की योजना जैसी कई योजनाएं शुरू की.

- अगर यूपी में हमारी सरकार बनती है, तो एक भी पैसा बकाया नहीं रहेगा.

- आज किसान पॉपुलर की खेती कर रहे हैं. अगर जरूरत पड़ी तो हम इसके लिए फैक्ट्री लगाएंगे.

- गन्ना किसानों के बकाया का भुगतान करना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है.

- देश की खुशहाली के लिए गांवों का विकास जरूरी है.

- हमारी सरकार किसानों के दर्द को समझती है.

- प्राकृतिक आपदा के तहत जो मुआवजा मिलता था उसे हमने बढ़ाकर 4 लाख किया.

- हम देश की जनता के प्रति अपनी जवाबदेही को अच्छी तरह जानते हैं.

- दो साल में हमारे पीएम ने देश का मस्तक दुनिया में ऊंचा किया है.

- दो साल में हमारी सरकार पर भ्रष्टाचार का कोई छींटा नहीं.

- देश की जनता में बीजेपी की स्वीकार्यता बढ़ती जा रही है.

- कांग्रेस सिमटती जा रही है. मैदानी क्षेत्रों से साफ, पहाड़ी क्षेत्रों में दुबकी हुई है.

खास बात यह है कि अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं. लिहाजा, प्रधानमंत्री की सहारनपुर रैली को चुनावी शंखनाद भी माना जा रहा है. जबकि करीब एक हफ्ते चलने वाले मोदी सरकार के जश्न के इस कार्यक्रम को विकास पर्व का नाम दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें