scorecardresearch
 

केजरीवाल बोले- दो साल के जश्न का विज्ञापन देने में मोदी सरकार ने लुटाए 1000 करोड़

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार के सभी विभागों ने एक साल में कुल 150 करोड़ रुपये ही विज्ञापन में खर्च किए हैं.

विज्ञापनों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाली आम आदमी पार्टी ने अब केंद्र सरकार को भी इस मुद्दे पर घेरने की कोशिश की है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विज्ञापन में खर्च हो रहे पैसों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि मोदी सरकार अपने एक कार्यक्रम में जितना लुटा कर रही है उतना दिल्ली सरकार ने एक साल में भी नहीं खर्च किया.

केजरीवाल ने गुरुवार सुबह ट्वीट करके कहा, 'मोदी सरकार दो साल पूरे होने के इवेंट को लेकर विज्ञापनों में 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए हैं.'

'AAP के सभी विभागों ने खर्च किए कुल 150 करोड़'
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार के सभी विभागों ने एक साल में कुल 150 करोड़ रुपये ही विज्ञापन में खर्च किए हैं. उसके बाद भी बीजेपी-कांग्रेस लगातार उन पर सवाल करती हैं.

आरटीआई से सामने आया था आंकड़ा
बता दें कि हाल ही में एक आरटीआई से खुलासा हुआ था कि दिल्ली की AAP सरकार ने इस साल 10 फरवरी से 11 मई तक 91 दिन की अवधि के दौरान प्रिंट मीडिया के विज्ञापन में करीब 15 करोड़ रुपये खर्च किए हैं. सरकार ने जनवरी और अप्रैल के दो चरणों में ऑड-इवन योजना के विज्ञापन पर करीब पांच करोड़ रुपये खर्च किए. इस बजट सत्र में केजरीवाल सरकार ने विज्ञापनों के लिए कुल 200 करोड़ रुपये का बजट रखा है, जो कि पिछले साल 326 करोड़ रुपये था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें