scorecardresearch
 

यूपीएससी सी सैट मामले को सुलझाने में पीएम मोदी खुद ले रहे हैं रुचिः नायडू

सरकार ने गुरुवार को कहा कि यूपीएससी सी सैट विवाद का ‘संतुलित और सबको स्वीकार्य’ समाधान जल्द ही कर लिया जाएगा और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं रुचि ले रहे हैं.

संसदीय कार्यमंत्री एम वेंकैया नायडू संसदीय कार्यमंत्री एम वेंकैया नायडू

सरकार ने गुरुवार को कहा कि यूपीएससी सी सैट विवाद का ‘संतुलित और सबको स्वीकार्य’ समाधान जल्द ही कर लिया जाएगा और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं रुचि ले रहे हैं.

लोकसभा में शून्यकाल के दौरान कुछ दलों के सदस्यों द्वारा यह मुद्दा उठाये जाने पर संसदीय कार्यमंत्री एम वेंकैया नायडू ने सी सैट का विरोध कर रहे छात्रों पर बुधवार को हुए लाठी चार्ज पर दुख प्रकट किया.

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री स्वयं इस विवाद को हल करने में रुचि ले रहे हैं. इस विवाद के समाधान के लिए समिति गठित कर दी गयी है और वह जल्द से जल्द इस बारे में फैसला करेगी. लेकिन इस मुद्दे पर सदन में पुरजोर तरीके से व्यक्त की गयी भावना से वह प्रधानमंत्री को अवगत करा देंगे.’ उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक मुद्दा नहीं है. यह ऐसा संवेदनशील मामला है जिससे किसी एक पक्ष की नहीं बल्कि सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों की भावनाएं जुड़ी हुई हैं. उन्होंने कहा कि यह हिंदी या गैर हिंदी भाषा का भी मामला नहीं है. यह क्षेत्रीय भाषाओं से जुड़ा एक संवेदनशील मामला है और इसका संतुलित एवं सबको स्वीकार्य होने वाला फैसला शीघ्र किया जाएगा.

इससे पहले सपा के धर्मेंद्र यादव ने यह मामला उठाते हुए कहा कि सदन में कई बार इस मुद्दे को उठाया जा चुका है और मंत्रियों की तरफ से आश्वासन भी दिए गए हैं कि हफ्ते भर में समस्या का निदान हो जाएगा. उन्होंने जानना चाहा कि आखिर यह कितने दिन चलेगा. उन्होंने इस बात पर खेद व्यक्त किया कि यूपीएससी की परीक्षा देने वाले आंदोलनकारी छात्रों की बातों को मानने के बजाय, उन पर लाठीचार्ज किया जा रहा है. यादव ने बुधवार को हुए लाठीचार्ज की जांच कर दोषी अधिकारियों को दंडित करने की मांग की.

आरजेडी के पप्पू यादव ने जानना चाहा कि कई बार आश्वासन देने के बाद भी सरकार इस मामले को सुलझा क्यों नहीं पा रही है.

इस मुद्दे पर बीजू जनता दल के सदस्य भी अगली पंक्ति में आकर कुछ कहते देखे गये लेकिन उनकी बात नहीं सुनी जा सकी.

कांग्रेस, आरजेडी और सपा के सदस्यों ने कुछ देर के लिए आसन के समीप आकर नारेबाजी की और इस मुद्दे के शीघ्र समाधान की मांग की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें