scorecardresearch
 

चिदंबरम की सुप्रीम कोर्ट में बतौर वकील वापसी, लड़ेंगे कांग्रेस का केस

पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम की सुप्रीम कोर्ट में बतौर वकील वापसी हो गई है. पी चिदंबरम आज तमिलनाडु स्थानीय निकाय चुनाव के केस में कांग्रेस की ओर से पेश होंगे. आईएनएक्स मीडिया केस में पी चिदंबरम को पहले सीबीआई और बाद में प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया था. इस दौरान वह 106 दिनों तक तिहाड़ जेल में बंद थे. पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम को सशर्त जमानत दी थी.

कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील पी चिदंबरम (फाइल फोटो-PTI) कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील पी चिदंबरम (फाइल फोटो-PTI)

  • तमिलनाडु निकाय चुनाव केस में कांग्रेस की ओर से होंगे पेश
  • 106 दिनों के बाद तिहाड़ जेल से रिहा हुए थे पी. चिदंबरम

पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम की सुप्रीम कोर्ट में बतौर वकील वापसी हो गई है. पी चिदंबरम आज तमिलनाडु स्थानीय निकाय चुनाव के केस में कांग्रेस की ओर से पेश होंगे. आईएनएक्स मीडिया केस में पी चिदंबरम को पहले सीबीआई और बाद में प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया था. इस दौरान वह 106 दिनों तक तिहाड़ जेल में बंद थे. पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम को सशर्त जमानत दी थी.

सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम दो लाख रुपये के निजी मुचलके और बिना इजाजत विदेश न जाने की शर्त पर जमानत दी है. इससे पहले न्यायमूर्ति आर. भानुमती की अध्यक्षता वाली पीठ ने कांग्रेस नेता को आईएनएक्स मीडिया मामले के बारे में कोई सार्वजनिक बयान नहीं देने का निर्देश दिया. साथ ही उन्हें गवाहों को डराने का प्रयास नहीं करने की नसीहत भी दी गई है.

शीर्ष अदालत ने उनकी जमानत पर कुछ शर्ते लगा दी हैं. चिदंबरम का पासपोर्ट जब्त कर लिया जाएगा और उन्हें बिना अनुमति के देश छोड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी. वह मीडिया को कोई साक्षात्कार भी नहीं देंगे. साथ ही उन्हें इस मामले में पूछताछ के लिए उपलब्ध रहना होगा.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि मामले में अन्य आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई का जमानत आदेश पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. शीर्ष अदालत ने रजिस्ट्री को आदेश दिया कि वह सुनवाई के अंतिम दिन ईडी द्वारा बेंच को सौंपे गए सीलबंद कवर वापस करे, जिसमें मामले से जुड़े सबूत हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें