scorecardresearch
 

नोटबंदी पर सरकार की घेराबंदी, राहुल-केजरीवाल-अखिलेश के बाद ममता ने उठाए सवाल

500 और हजार के नोट बंद होने से देश भर में लोगों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं. लोगों के सुबह से शाम तक का वक्त बैंकों के चक्कर काटने में बीत जा रहे हैं. नकदी खत्म होने से और बैंकों में घंटों इंतजार करने की वजह से लोगों के सब्र का बांध अब टूटने लगा है.

ममता ने फैसला वापस लेने की मांग की ममता ने फैसला वापस लेने की मांग की

500 और हजार के नोट बंद होने से देश भर में लोगों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं. लोगों के सुबह से शाम तक का वक्त बैंकों के चक्कर काटने में बीत जा रहे हैं. नकदी खत्म होने से और बैंकों में घंटों इंतजार करने की वजह से लोगों के सब्र का बांध अब टूटने लगा है. इसके अलावा अब विपक्षी पार्टियां भी सरकार पर जमकर निशाना साध रही है, आरोप है कि बिना तैयारी के नोटबंदी को लागू करने में सरकार जुटी है. वहीं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि एटीएम में तकनीकी खामियां सामने आई हैं, जिससे निपटने में 2 से 3 हफ्ते लग जाएंगे.

विपक्ष के तमाम नेताओं का सरकार के खिलाफ मोर्चा:

अरविंद केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नोटबंदी के खिलाफ सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. केजरीवाल ने कहा कि नोटबंदी का सीधा असर मंडी पर पड़ रहा है. मोदी जी ने कुछ नहीं किया तो बहुत बड़ी मुसीबत आ जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐसे हालात रहे तो थोड़े ही दिन में सब्जी आनी बंद हो जाएगी क्योंकि थोक व्यापारी पेमेंट नहीं कर पा रहे हैं. इसका समाधान सबको निकालना होगा क्योंकि लोगों के घर सब्जी नहीं पहुंची तो कैसे काम चलेगा. उन्होंने कहा कि 500 और 1000 के नोट में कमीशनखोरी चल रही है. अगर पीएम मोदी ने कुछ नहीं किया तो जनता माफ़ नहीं करेगी. केजरीवाल की मानें तो इस हालात को केवल वो तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करेंगे.

ममता बनर्जी
एक हजार और 500 रुपये के नोट अमान्य करने पर मोदी सरकार पर फिर से प्रहार करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस काले राजनीतिक निर्णय को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि यह आम आदमी के खिलाफ है. उन्होंने इस निर्णय को तुरंत वापस लेने की मांग है. ममता ने सरकार के इस फैसले को चुनावी फायदे के लिए उठाया गया कदम बताया. उन्होंने कहा कि पूरे भारत के बाजार बर्बाद हो गए, खरीदने की क्षमता खत्म हो गई, लोग दुखी हैं. उन्होंने कहा कि यह बड़ा काला घोटाला बन गया है. आम आदमी की कठिनाईयां बढ़ गई हैं और धन शोधन करने वालों को पूरा लाभ मिल रहा है. ममता ने बृहस्पतिवार को सभी विपक्षी दलों का आह्वान किया कि केंद्र की गरीब विरोधी सरकार के खिलाफ एकजुट होकर काम करें.

अखिलेश यादव
नोटबंदी पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी बीजेपी पर हमला बोला है. 500 और 1,000 रुपये के नोटों के विमुद्रीकरण पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे आम लोगों को परेशानी हो रही है. काला धन कहां है, यह सरकार तय करे, लेकिन आम लोगों को परेशानी न हो. इसलिए हमने केंद्र से अनुरोध किया है कि पुराने नोटों को जमा करने की समय सीमा और बढ़ाई जाए. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद होने के बाद से मची अफरातफरी के बीच देश के वित्तमंत्री अरुण जेटली को पत्र लिखकर उनसे 500 तथा 1000 रुपये के नोट को 30 नवंबर तक मान्य करने की अपील की है. वहीं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नमक की किल्लत की अफवाह फैलाने का सारा दोष भाजपा पर मढ़ दिया. यह संभव है कि नए नोट की कमी से जूझ रहे लोगों का ध्यान भटकाने के लिए यह अफवाह उड़ाई गई हो? अखिलेश यादव ने कहा कि देश में किसी भी तरह की अफवाह फैलाने में भाजपा के साथ आरएसएस के लोग बेहद माहिर हैं.

राहुल गांधी
नोटबंदी को लेकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सीधे पीएम मोदी पर हमले कर रहे हैं. राहुल गांधी शुक्रवार को संसद मार्ग स्थित एक बैंक के बाहर भीड़ के बीच पहुंच गए और अव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार को जमकर खरी-खोटी सुनाई. राहुल ने पीएम पर हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी को आम लोगों की परेशानियां समझ नहीं आती, इसलिए मैं इनके साथ यहां खड़ा होने आया हूं. राहुल ने आरोप लगाया था कि नोटबंदी को लेकर आधी-अधूरी तैयारी की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है और सरकार 15-20 करोड़पतियों के लिए नहीं चलनी चाहिए.

मायावती
उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की अध्यक्ष मायावती ने देश में 500 और 1,000 रुपये के नोट बंद करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसले को आर्थिक आपातकाल करार देते हुए कहा कि उनकी नीयत साफ नहीं है. बीएसपी अध्यक्ष ने कहा कि देश की सीमा पहले की तरह ही असुरक्षित है. मोदी सरकार से जनता मायूस है, सरकार का ध्यान किसानों की ओर न जाकर देश के बड़े-बड़े पूंजीपतियों की ओर है. बसपा प्रमुख ने कहा कि लोगों का चुनाव से ध्यान हटाने के लिए बड़े नोटों को बंद करने का कदम उठाया गया है. उन्होंने कहा कि मोदी ने गरीबों के बारे में नहीं सोचा है. इससे भाजपा को आर्थिक मजबूती मिली है। अभी तक विदेश से कालाधन नहीं आया है। नोट के बंद होने के बाद से हर तरफ हाहाकार मच गया है. प्रधानमंत्री मोदी के इस फैसले से आम जनता के दैनिक कार्य प्रभावित हुए हैं.

भूपेंद्र सिंह हुड्डा
हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने 500 और 1000 के नोट बंद करने को लेकर केंद्र पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि ब्लैक मनी के ख़िलाफ़ क़दम तो सही है, लेकिन बिना होमवर्क किए सरकार ने कदम उठाया है. हुड्डा ने कहा कि सरकार कि मंशा पर इसलिए भी सवाल खड़े हो रहे हैं, क्योंकि आम आदमी का जीवन ठप हो गया है. रोज़मर्रा कि ज़िंदगी प्रभावित हुई है बड़े अमीर और व्यापारी तो लाइन में नहीं खड़े हैं. सरकार को अमल करना है तो पहले इसका इंतज़ाम करती सड़क पर हाहाकार मची है, खाने के लाले हैं लोग बेबस हैं. उन्होंने कहा कि हम सोमवार को मिलकर आगे कि रणनीति तय करेंगे. हरियाणा के हित में जो खट्टर साहब तय करेंगे तो हम उनके साथ हैं.

नीतीश कुमार
बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल (युनाइटेड) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार द्वारा 500 रुपये और 1000 रुपये के नोटों को अवैध घोषित करने के निर्णय का स्वागत और समर्थन किया. उन्होंने हालांकि शुरुआती दौर में इससे लोगों को परेशानी की आशंका जताई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के इस निर्णय का मैं स्वागत और समर्थन करता हूं. उन्होंने कहा कि शुरुआती दौर में इससे लोगों को कुछ परेशानी होगी, परंतु कुल मिलाकर इस फैसले का लाभ होगा। इस कारण मैं इस फैसले का समर्थन और स्वागत करता हूं.

कपिल सिब्बल
कांग्रेस पार्टी ने नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार की तीखी आलोचना की. पार्टी ने कहा कि पूरा राष्ट्र इसी वजह से परेशानी झेल रहा है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि यह एक ऐसा फैसला है, जो पूरी तरह सोच-विचार कर नहीं, उतावलेपन में लिया गया है. काले धन को दूसरे तरह के काले धन के रूप में बदला जा रहा है. कांग्रेस ने मोदी पर इस बात के लिए भी निशाना साधा कि वह देश को अराजकता की स्थिति में छोड़कर खुद जापान यात्रा कर रहे हैं. कांग्रेस ने कहा कि ऐसे समय में जब प्रधानमंत्री को देश में होना चाहिए था, वह यहां नहीं जापान में हैं. सिब्बल ने कहा कि सरकार के इस कदम से लोगों को असुविधा झेलनी पड़ रही है. बैंक और एटीएम के सामने जमा करने या पुराने नोट बदलकर नए नोट लेने के लिए लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं. सिब्बल ने सवाल किया, 'पैसा मेरा है, खाता मेरा है तो हम लाइन में खड़ा होकर इंतजार क्यों करें?'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें