scorecardresearch
 

उमर खालिद के पिता ने कहा- 'मेरा बेटा देशद्रोही नहीं, साजिश का शिकार हुआ है'

जेएनयू में 9 फरवरी को आतंकी अफजल गुरु के समर्थन में कार्यक्रम आयोजित करने वाले उमर खालिद के पिता ने उसका बचाव किया है.

X

जेएनयू में अफजल गुरु के समर्थन में कार्यक्रम आयोजित करने और देश विरोधी नारे लगाने वाले घटनाक्रम के मास्टरमाइंड उमर खालिद के पिता डॉ. एसक्यूआर इलियास ने इस मामले में चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने कहा है कि उनका बेटा देशद्रोही नहीं हो सकता, वह बड़ी साजिश का शिकार हुआ है.

उन्होंने कहा कि उनको पूरे मामले की जानकारी टीवी चैनलों से मिली है. उनकी उमर से इस बारे में कोई बात नहीं हुई और न ही वो वहां लगाए गए देश विरोधी नारों से इत्तेफाक रखते हैं.

'देश की सेवा के लिए ठुकराई थी विदेश की स्कॉलरशिप'
उमर के पिता ने उसका बचाव करते हुए कहा, 'उमर ऐसे नारे नहीं लगा सकता. इसमें बाकी लोग शामिल हैं. इसकी खोज होनी चाहिए कि किस तरह के लोग वहां नारे लगा रहे थे.' उन्होंने कहा कि जो शख्स भारत के आम नागरिकों की लड़ाई लड़ रहा हो. जिसकी जिंदगी आदिवासों और गरीबों के उत्थान के लिए काम कर रहा हो, जिसने विदेश में मिल रही स्कॉलरशिप ठुकराकर देश के लिए काम करने का विकल्प चुना हो वह देश की बर्बादी के नारे नहीं लगा सकता.

'उमर को फ्रेम करने की कोशिश हुई है'
डॉ. एसक्यूआर इलियास ने यह भी कहा कि मामले में उमर को फ्रेम करने की कोशिश की गई है. वह एक बड़ी साजिश का शिकार हुआ है. इसमें एबीवीपी के लोग शामिल हैं और देश विरोधी नारे लगाते हुए उनके वीडियो सामने आए हैं. उन्होंने यह भी कहा कि उमर को देशद्रोही किस आधार पर कहा जा रहा है और देशद्रोह है या नहीं इसका फैसला कोर्ट को करने दिया जाए तो बेहतर होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें