scorecardresearch
 

UP में बूचड़खाने बैन लेकिन बंगाल में मीट की होम डिलीवरी करेगी ममता सरकार

यूपी में मीट को लेकर बवाल चल रहा है, लेकिन बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने मीट की खपत को बढ़ावा देने के लिए इसकी होम डिलिवरी शुरू की है.

घर-घर मीट पहुंचाएगी कंपनी घर-घर मीट पहुंचाएगी कंपनी

यूपी में मीट को लेकर बवाल चल रहा है, लेकिन बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने मीट की खपत को बढ़ावा देने के लिए इसकी होम डिलिवरी शुरू की है.

ममता सरकार मांसाहारी लोगों के लिए अब मीट घर-घर पहुंचाने की योजना बना रही है. इस योजना का नाम ‘मीट ऑन व्हील्ज’ है. इस योजना से कोलकाता के लोगों को घर पर ही मीट पहुंचाया जाएगा. इंडियन एक्सप्रेस में की खबर के मुताबिक, इस पहल की शुरुआत वेस्ट बंगाल लाइवस्टॉक डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (WBLDCL) के मशहूर ब्रैंड ‘हरिंघता मीट’ने की है.

यह ब्रैंड साधारण मीट के अलावा बटेर, बतख, टर्की और इमू जैसे गैर पारंपरिक मीट भी उपलब्ध कराती है. कॉरपोरेशन के पास पोर्क, चिकन, डक, गोट और लैंब मांस के प्रोडक्ट के लिए दो अत्याधुनिक प्रोसेसिंग यूनिट हैं.

गौरतलब है कि यूपी में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद प्रदेश के कई शहरों में बूचड़खाने बंद कर दिए गए. जिसके बाद राज्य में मीट की सप्लाई ठप हो गई है. मंगलवार को बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने यूपी में बूचड़खाने बंद करने के हालिया घटनाक्रम पर टिप्पणी करते हुए कहा था, 'लोग डरे हुए हैं. बहुत से लोग जाति, धर्म के विभेद से डरे हुए हैं.'

योजना के अनुसार पके हुए नॉन-वेज फूड आइटम के अलावा हरिंघता के पैक आइटम भी बेचे जाएंगे. यह योजना पशु संसाधन विकास विभाग के मंत्री स्वप्न देबनाथ ने विभाग के सॉल्ट लेक हेडक्वार्टर पर लॉन्च की थी. अधिकारियों के मुताबिक कोलकता में फिलहाल डिलिवरी के लिए अभी तीन वैन रखी गई हैं. हालांकि बाद में वैन की संख्या में बढोत्तरी कर दी जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें