scorecardresearch
 

लंबी होती जा रही है 'पीएम इन वेटिंग' की लिस्ट, जानिए कौन-कौन है इस रेस में शामिल

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री पद के लिए सही उम्मीदवार बताया है तो समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव को 'द बेस्ट' करार दिया.

X

अगले आम चुनाव होने में अभी तीन साल का वक्त है. नरेंद्र मोदी को सत्ता संभाले अभी दो साल भी नहीं हुए लेकिन प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी को लेकर अभी से रेस शुरू हो गई है. एक ओर जहां मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस से अब राहुल गांधी की उम्मीदवारी की अटकलें लगाई जाने लगी हैं तो दूसरी ओर तीसरे मोर्चे से नीतीश कुमार का नाम आगे किया जा रहा है.

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री पद के लिए योग्य उम्मीदवार बताया है तो समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव को 'द बेस्ट' करार दिया.

पवार ने नीतीश को बताया बेहतर
कभी खुद प्रधानमंत्री बनने का सपना देखने वाले शरद पवार अब नीतीश कुमार के नाम पर सियासी गोटियां फिट करने की कोशिश में हैं. उन्होंने नीतीश कुमार को राहुल गांधी से बेहतर बताया है. इसके पहले बिहार चुनाव में शानदार जीत के बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद ने बी नीतीश को अगले लोकसभा चुनाव में चेहरे के रूप में पेश करने की संकेत दिए थे.

खुद नीतीश ने इशारों में बताया गेम प्लान
हाल ही में नीतीश कुमार को जेडीयू का राष्ट्रीय अध्यक्ष भी चुना गया. अपने पहले भाषण में ही उन्होंने मोदी सरकार को नाकाम बताते हुए इसे देशव्यापी मुद्दा बनाने का संकेत भी दिया. उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष की औपचारिक घोषणा से पहले की संघ मुक्त भारत की परिकल्पना करनी शुरू कर दी. बीजेपी ने कांग्रेस मुक्त भारत की कल्पना कर केन्द्र में गद्दी हथियाई, ठीक उसी तर्ज पर नीतीश कुमार ने संघ मुक्त भारत का नारा दे दिया. ताकि बीजेपी नेताओं की ओर से देश में बन रहे माहौल का फायदा उठाया जा सके. नीतीश कुमार ने कहा कि वो देशभक्त हैं लेकिन देशभक्त होने का सार्टिफिकेट उन्हें आरएसएस से नहीं चाहिए. जिन्होंने कभी देश की आजादी के लिए लड़ाई नहीं लड़ी वो आज देशभक्त बने हुए हैं. उन्होंने कहा कि अगर गैर-बीजेपी दल एक साथ मिल जाएं तो 2019 में इनकी विदाई तय है.

मुलायम भी हैं रेस में
सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव की बात करें तो खुद उनके बेटे और यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा था कि उनका लक्ष्य 'नेताजी' को प्रधानमंत्री बनवाना है. मुलायम सिंह यादव ने यूपी की कमान बेटे को सौंप कर केंद्रीय सत्ता पाने की धुन में ही कदम बढ़ाए थे. अब सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव को प्रधानमंत्री पद के लिए 'बेस्ट' उम्मीदवार करार दिया.

केजरीवाल के इरादे भी ऐसे ही हैं
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने साल 2014 के लोकसभा चुनावों से ठीक पहले दिल्ली की सत्ता छोड़ दी थी. हालांकि उन्होंने इसके पीछे वजह कुछ और बताई थी लेकिन धीरे-धीरे यह साफ होता गया कि उन्होंने पीएम बनने की ख्वाहिश में दिल्ली के सीएम पद से इस्तीफा दिया था. उनकी पार्टी ने चुनाव भी लड़ा लेकिन बुरी तरह हार गई.

मायावती ने भी संजोया है सपना
यूपी में सपा की मुख्य प्रतिद्वंद्वी पार्टी बीएसपी की मुखिया मायावती भी प्रधानमंत्री बनने का सपना संजोए हुए हैं. बीते चुनाव हों या आने वाले चुनाव मायावती ने हर मौके पर खुद को प्रधानमंत्री पद के दावेदार के रूप में पेश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. ऐसे ही संकेत पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और तमिलनाडु की सीएम जयललिता की ओर से भी मिलते रहे हैं.

बीजेपी से पीएम इन वेटिंग ही रह गए आडवाणी
बीजेपी के वरिष्ठ नेता और फिलहाल मार्गदर्शक मंडल में शामिल लालकृष्ण आडवाणी की प्रधानमंत्री बनने की ख्वाहिश अब तक अधूरी है. नरेंद्र मोदी को बीजेपी से पीएम पद का उम्मीदवार घोषित किया जाना उनके लिए अपने आप में एक झटका था. मोदी के प्रधानमंत्री बनने से आडवाणी का उस कुर्सी तक पहुंचने का सपना, सपना ही रह गया और 'पीएम इन वेटिंग' का टैग उनके नाम के साथ ही जुड़ा रह गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें