scorecardresearch
 

म्यांमार: आतंकियों को मारने वाले ये हैं कमांडो

भारत-म्यांमार सीमा पर आतंकियों के खिलाफ बेहद खुफिया ऑपरेशन को अंजाम देने वाले सेना के शूरवीरों की तस्वीर सामने आई है.

X
सिर्फ आजतक के पास है ये EXCLUSIVE तस्वीर सिर्फ आजतक के पास है ये EXCLUSIVE तस्वीर

भारत-म्यांमार सीमा पर आतंकियों के खिलाफ बेहद खुफिया ऑपरेशन को अंजाम देने वाले सेना के शूरवीरों की तस्वीर सामने आई है.

इन कमांडों ने आतंकियों के दो कैंप तबाह कर दिए और 15 आतंकियों को मार गिराया . आजतक के पास इन कमांडो की एक्सक्लूसिव तस्वीर हैं, जिन्होंने इस ऑपरेशन में हिस्सा लिया.

सुरक्षा की वजह से इनके चेहरे तस्वीर में छिपा दिए गए हैं. इन्हीं कमांडो ने अदम्य शौर्य का परिचय देते हुए मणिपुर में सेना पर हुए हमले का बदला लिया है.

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते भारतीय सेना पर आतंकियों ने मणिपुर में हमला किया था. इसमें सेना के 18 जवान शहीद हो गए थे. उसके बाद आर्मी ने बहुत ही खुफिया तरीके से योजना बनाई ताकि जवानों की शहादत का बदला लिया जा सके.

सेना की एक योजना यह थी कि आतंकियों के कैंपों पर अटैक किया जाए. ताकि इस तरह के और अटैक रोके जाए. इसी प्लान के मुताबिक सेना ने ऑपरेशन को अंजाम दिया.

तस्वीर में पैरा स्पेशल फोर्स के 30 से ज्यादा जवान हैं और एलएच ध्रुव हेलिकॉप्टर भी है. इसी हेलिकॉप्टर से जवानों को वापस अपनी सरजमीं पर लाया गया. साथ ही आर्मी एविएशन के पायलट भी हैं, जिन्होंने एलएच ध्रुव को उड़ाया.

इंडिया टुडे के डिप्टी एडिटर संदीप उन्नीथन के मुताबिक ऑपरेशन को गुप्त रखने के लिए इसकी जानकारी बहुत सीमित लोगों को दी गई थी.

उन्नीथन के मुताबिक मुंबई हमले के बाद आतंकियों को खत्म करने के लिए इस तरह की योजना बनाई गई थी, लेकिन तात्कालिक सरकार की मंजूरी ना मिलने की वजह से ये संभव नहीं हो पाया. उनका कहना है कि इस तरह के ऑपरेशन के लिए सबसे जरूरी चीज पॉलिटिकल क्लीयरेंस हैं और जब क्लीयरेंस मिल जाती है, तो सेना अपनी तैयारी शुरू कर देती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें