scorecardresearch
 

MP-छत्तीसगढ़ में कर्ज माफी के बाद बोले राहुल गांधी- देखा आपने, शुरू हो गया ना काम

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री की कमान संभालते ही कमलनाथ ने किसानों की कर्जमाफी का ऐलान कर दिया. इसके बाद छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार बनने के कुछ घंटे के अंदर ही कर्जमाफी की घोषणा कर दी गई. विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में जनता से किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था.

संसद भवन में PC करते कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो-संजीव कुमार) संसद भवन में PC करते कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो-संजीव कुमार)

तीन राज्यों में नई सरकार के अस्तित्व में आने और उसकी ओर से लिए गए फैसलों के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को संसद भवन से बाहर निकलते हुए कहा कि आपने देखा न कि काम शुरू हो गया है.

'मोदी को कर्ज माफ करना ही पड़ेगा'

इसके इतर राहुल गांधी ने मंगलवार को संसद भवन परिसर में कहा कि हमने वादा किया था कि किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा. दो राज्यों का माफ हो गया है और तीसरे का भी माफ करेंगे. मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सरकार ने कर दिखाया है. अब हम चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी देश के किसानों का कर्जा माफ करें.

उन्होंने कहा कि पूरे विपक्ष की ओर से हम उन पर दबाव डालेंगे. अगर वह नहीं करते हैं तो हम 2019 में जब सत्ता में आएंगे तो गारंटी के साथ किसानों का कर्ज माफ करेंगे. हम उनको पीछे नहीं हटने देंगे. मोदी पर इतना दबाव डालेंगे कि उनका कर्ज माफ करना ही पड़ेगा.

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कर्जमाफी

राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद वहां के मुख्यमंत्रियों ने फैसले लेने शुरू कर दिए हैं. मध्य प्रदेश में कर्ज माफी के चंद घंटे बाद ही छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफ कर दिया गया. छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के कुछ घंटे बाद भूपेश बघेल ने भी कैबिनेट की बैठक की और किसानों की कर्ज माफी का ऐलान कर दिया.

इससे पहले मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री की कमान संभालते ही कमलनाथ ने भी किसानों की कर्जमाफी की थी. विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में जनता से किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था. हालांकि राजस्थान में अभी इस संबंध में कोई फैसला नहीं लिया गया है.

'मोदी को कर्जमाफी तक सोने नहीं देंगे'

राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी ने इस देश के दो हिस्से किए हैं एक पूंजीपतियों का देश जिसमें 15-20 उद्योगपतियों का और दूसरा किसान, गरीब, मजदूर और छोटे दुकानदारों का. मोदी ने 15-20 लोगों उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाया जबकि 3.50 लाख करोड़ पर जनता का पैसा इन उद्योगपतियों की जेब में डाल दिया, लेकिन किसानों का एक रुपया भी माफ नहीं किया.

उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मोदी जब तक देश के किसानों का कर्ज माफ नहीं करेंगे, तब तक हम उन पर इतना दबाव डालेंगे कि उन्हें सोने नहीं देंगे और कर्ज माफ करवाकर रहेंगे. किसानों, युवाओं और गरीबों के साथ अन्याय हो रहा है लेकिन 15-20 उद्योगपतियों का भला किया जा रहा है.

राफेल मुद्दे पर एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि राफेल में चोरी करके पैसा एक व्यक्ति की जेब में डाल दिया गया है. हम चाहते हैं कि इस मुद्दे पर जेपीसी होनी चाहिए ताकि दूध का दूध पानी का पानी हो जाए. मोदी जेपीसी से क्यों भाग रहे हैं? वह जेपीसी क्यों नहीं करना चाहते हैं?

सज्जन कुमार पर कुछ नहीं बोले राहुल

राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला था जिसका मकसद गरीबों के हक छीनना था. गरीबों का पैसा छीनना था.

राहुल गांधी ने राफेल डील में सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में टाइपो एरर की बात पर कहा कि अब बहुत से टाइपो एरर निकलेंगे.

1984 में हुए सिख दंगे में उम्र कैद की सजा पाए कांग्रेस नेता सज्जन कुमार के मुद्दे पर राहुल गांधी ने कहा कि आज वह सिर्फ किसानों और राफेल मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करने आया हूं और मेरा स्टैंड पहले से ही क्लियर है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें