scorecardresearch
 

राहुल के दर्द के बाद कांग्रेस में इस्तीफों की झड़ी, 120 पदाधिकारियों ने छोड़ा पद

कांग्रेस में इस्तीफों की झड़ी लग गई है और करीब 120 पार्टी पदाधिकारियों ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा सौंपा है.

कांग्रेस में लगी इस्तीफों की झड़ी कांग्रेस में लगी इस्तीफों की झड़ी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान के बाद पार्टी में इस्तीफों की झड़ी लग गई है. शुक्रवार को कई प्रदेश अध्यक्षों समेत 120 पदाधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया है. लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़ने पर अड़े हुए हैं. हाल ही में राहुल ने दुख जताते हुए कहा था कि उनके इस्तीफे के बाद किसी मुख्यमंत्री, महासचिव या प्रदेश अध्यक्षों ने हार की जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा नहीं दिया. लेकिन अब कांग्रेस में इस्तीफों की बारिश हो गई.

इस्तीफा देने में बड़े नेताओं में दिल्ली कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया भी शामिल हैं. इसके अलावा हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुमित्रा चौहान ने भी अपना इस्तीफा दे दिया है. इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी इस्तीफे की पेशकश की थी. वहीं अब एमपी प्रभारी और महासचिव दीपक बावरिया ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है.

लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के बाद राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष के पद पर बने रहना नहीं चाहते. कांग्रेस नेता लगातार राहुल को मनाने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन अब पार्टी पदाधिकारियों ने भी राहुल गांधी को इस्तीफा भेज दिया है. एक पत्र पर हस्ताक्षर कर पार्टी नेताओं ने इस्तीफा दिया है.

इस पत्र पर अभी तक कांग्रेस के 120 पदाधिकारी हस्ताक्षर हैं. इसमें AICC सचिव, यूथ कांग्रेस, महिला कांग्रेस पदाधिकारी शामिल हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक इस पर आगे और नेता भी हस्ताक्षर कर सकते हैं. राहुल गांधी के सम्मान में ये सामूहिक इस्तीफे दिए गए हैं.

इस्तीफा देने वालों की लिस्ट यहां देख सकते हैं-

resign_062819062555.jpgइस्तीफा देने वाले पदाधिकारी

resignation_062819062652.jpgइस्तीफा देने वाले पदाधिकारी

राहुल गांधी ने कहा था, मुझे इस बात का दुख है कि मेरे इस्तीफे के बाद किसी मुख्यमंत्री, महासचिव या प्रदेश अध्यक्षों ने हार की जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा नहीं दिया. यूथ कांग्रेस के लोग राहुल गांधी के घर के बाहर एकत्रित हुए थे. वे राहुल गांधी से अध्यक्ष पद न छोड़ने की गुहार लगा रहे थे. राहुल गांधी के समर्थन में उनके घर के बाहर जब राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य बैठे तो राहुल ने सभी को अपने घर पर आमंत्रित किया और उनसे अपने मन की बात की.

बैठक में यूथ कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि सर (राहुल गांधी) ये सामूहिक हार है सबकी जिम्मेदारी बनती है तो सिर्फ इस्तीफा आपका ही क्यों? राहुल गांधी ने बड़ा मार्मिक जवाब देते हुए कहा, मुझे इसी बात का दुख है कि मेरे इस्तीफे के बाद किसी मुख्यमंत्री, महासचिव या प्रदेश अध्यक्षों ने हार की जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा नहीं दिया.

For latest update on mobile SMS to 52424 for Airtel, Vodafone and idea users. Premium charges apply!!

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें