scorecardresearch
 

राहुल पर BJP का पलटवार, कहा- 1000 जन्म ले लें, तो भी नहीं बन पाएंगे सावरकर

दिल्ली के रामलीला मैदान में राहुल गांधी ने कहा कि मैं राहुल सावरकर नहीं, नहीं मांगूगा माफी. मोदी-शाह मांगें देश से माफी.

राहुल गांधी (ट्विटर) राहुल गांधी (ट्विटर)

  • राहुल गांधी 1000 जन्म ले लें तब भी वह राहुल सावरकर नहीं हो सकते
  • जो पाकिस्तान की भाषा इस्तेमाल करते है वो ‘वीर’ नहीं हो सकते

शीतकालीन सत्र के दौरान जो नोकझोंक सदन के अंदर दिख रही थी अब वो बाहर दिखने लगी है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा है कि राहुल गांधी 1000 जन्म भी लेंगे तो वीर सावरकर की बराबरी नहीं कर सकते.

उन्होंने आगे कहा कि राहुल गांधी, जो आर्टिकल 370, एयर स्ट्राइक, सर्जिकल स्ट्राइक और नागरिकता कानून 2019 जैसे मुद्दों पर पाकिस्तान की भाषा बोलते हैं वो कभी भी सावरकर नहीं हो सकते.

संबित पात्रा ने कहा, 'भले ही राहुल गांधी 1000 जन्म लेते हैं लेकिन वह राहुल सावरकर नहीं हो सकते. सावरकर ‘वीर’ थे, देशभक्त थे और बलिदानी थे. राहुल गांधी अनुच्छेद 370, हवाई हमले, सर्जिकल स्ट्राइक और सीएबी पर पाकिस्तान की भाषा इस्तेमाल करते है. वो ‘वीर’ नहीं हो सकते, सावरकर के बराबर नहीं हो सकते.”

भारत बचाओ रैली में राहुल ने क्या बोला था?

शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित 'भारत बचाओ रैली' में एक बार फिर से राहुल आक्रामक मुद्रा में नज़र आए. बीजेपी के माफी मांगने वाले सवाल पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि उनका नाम 'राहुल सावरकर' नहीं हैं और वह कभी माफी नहीं मांगने वाले हैं.

उन्होंने 'भारत बचाओ रैली' में कहा, 'कांग्रेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता और देश के लिए जान देने के लिए तैयार रहता है.'

उन्होंने कहा, 'संसद में भाजपा के लोगों ने कहा कि मैं भाषण के लिए माफी मांगू. मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है. माफी नहीं मांगूंगा. मर जाऊंगा लेकिन माफी नहीं मांगूंगा.'

गांधी ने कहा, " मोदी और अमित शाह को माफी मांगनी है. पूरी दुनिया हमारी तरफ देख रही थी. हमारी शक्ति अर्थव्यवस्था थी. लोग दुनिया का भविष्य चीन और भारत को बोलते थे."

उन्होंने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था खुद नष्ट कर दी.

कांग्रेस नेता ने कहा, ' हिंदुस्तान के सभी दुश्मन चाहते थे कि भारत की अर्थव्यवस्था नष्ट हो जाए. यह काम हमारे प्रधानमंत्री ने कर दिया.'

उन्होंने आरोप लगाया कि नोटबन्दी करके लाखों करोड़ रुपये कुछ उद्योगपतियों को दे दिए.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस रैली में कहा, ' तकरीबन छह साल पहले जनता को बड़े बड़े सब्जबाग दिखाए गए थे. किसानों की आमदनी दुगुनी करने और नौजवानों को हर साल दो करोड़ रोजगार मुहैया कराने का वादा किया था. अब तो साबित हो गया कि ये वादे झूठे थे.'

उन्होंने कहा कि हमारा फर्ज है कि हम कांग्रेस को मजबूत करें ताकि हम देश को सही दिशा की तरफ ले जा सके.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें