scorecardresearch
 

असम: सेना-पुलिस के जवानों ने साधुओं को मॉब लिंचिंग से बचाया

ये घटना असम के दीमा हासाओ के मधुर रेलवे स्टेशन की है. जहां पर कुछ लोग बच्चा चोरी के शक में साधुओं को पीटने के लिए इकट्ठा हुए थे.  

फोटो साभार ट्विटर फोटो साभार ट्विटर

देश में बढ़ती मॉब लिंचिंग की घटनाओं के बीच असम में सेना और पुलिस के जवानों ने तीन साधुओं को भीड़ द्वारा पिटने से बचा लिया. ये घटना असम के दीमा हासाओ के मधुर रेलवे स्टेशन की है. जहां पर कुछ लोग बच्चा चोरी के शक में साधुओं को पीटने के लिए इकट्टा हुए थे.

अधिकारियों ने कहा कि स्टेशन के बगल में तैनात सेना के जवान और पुलिस के अधिकारियों ने साधुओं को पिटने से बचा लिया. भीड़ बच्चा चोरी के शक में साधुओं की पिटाई करने वाली थी.

भीड़ ने साधुओं के कपड़े फाड़ दिए और इसकी वीडियोग्राफी कर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिए. घटना के बाद डिप्टी कमिश्नर अमिताभ राजकोवा और एसपी प्रशांता साइका ने अधिकारियों के साथ गुरुवार को बैठक बुलाई. बैठक में हिस्सा लेने वाले अलग-अलग समाज के प्रतिनिधियों ने लोगों से खासतौर से दीमा हासाओ के लोगों से जिम्मेदारीपूर्वक व्यवहार और सोशल मीडिया पर अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की.

उन्होंने लोगों से ये भी मांग की कि वे कानून को अपने हाथ में न लें और किसी भी शख्स की संदिग्ध हरकत की जानकारी प्रशासन को दें. बता दें कि बीते कुछ हफ्तों में देशभर में मॉब लिंचिंग की घटना में बढ़ोतरी हुई है.

बीते हफ्ते महाराष्ट्र के धुले में भीड़ ने बच्चा चोरी करने के शक में कुछ लोगों की पिटाई कर दी थी. इससे पहले असम में भीड़ ने बच्चा चोरी करने के शक में दो लोगों की हत्या कर दी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें