scorecardresearch
 

अरुणाचल प्रदेश के बोमडिला में बादल फटा, 800 लोग फंसे, कई लापता

बोमडिला में बादल फटने के कारण पश्चिम कामेंग जिले में नाग-मंदिर टेंगा के पास कास्पी नाले में बाढ़ आ गई. कास्पि और नागमंदिर के बीच एक आरसीसी पुल बाढ़ के पानी में बह गया है.

बोमडिला में फटा बादल (फोटो-मनोज्ञा लोइवाल) बोमडिला में फटा बादल (फोटो-मनोज्ञा लोइवाल)

अरुणाचल प्रदेश में मंगलवार को बोमडिला के पास बादल फट गया. प्रशासनिक अमला मौके पर मौजूद है और राहत और बचाव कार्य चलाया जा रहा है. बादल फटने के बाद आई बाढ़ में कम से कम 800 लोगों के फंसे होने की खबर है, जबकि कई अन्य लोग लापता हैं.

बोमडिला क्षेत्र में बादल फटने के कारण पश्चिम कामेंग जिले में नाग-मंदिर टेंगा के पास कास्पी नाले में बाढ़ आ गई. कास्पि और नागमंदिर के बीच एक आरसीसी पुल बाढ़ के पानी में बह गया. एनडीआरएफ के साथ सेना और अर्धसैनिक बलों के जवान रेस्क्यू ऑपरेशन चला रहे हैं.

इस घटना के बाद पश्चिमी कामेंग जिला प्रशासन ने चारद्वार होकर बलीपारा से तवांग जाने वाली सड़क को बंद कर दिया है. बोमडिला में बादल फटने की घटना सोमवार शाम को हुई. इस घटना में चार मकान, एक बॉयज होस्टल और रेस्टोरेंट तबाह हो गए. बादल की चपेट में कई गाड़ियां और मोटरसाइकिल आ गए और नष्ट हो गए.

इस साल अप्रैल महीने में भी बोमडिला में बादल फटने की घटना हुई थी. पश्चिमी कामेंग जिले के मुख्यालय बोमडिला में हुई इस घटना में आसपास के कई इलाके चपेट में आ गए और वहां तबाही मची थी. यहां बादल फटने के बाद भारी बारिश हुई और कई घर बह गए.

बादल फटने के बाद लगभग एक घंटे तक लगातार बारिश होती रही जिससे नदी नालों में पानी भर गया. इस कारण जगह जगह जलभराव की समस्या आ गई और यह बाढ़ में तब्दील हो गया. स्थानीय विधायक कुम्सी सिदीसो ने कहा कि लगभग दर्जन भर घर पूरी तरह बर्बाद हो गए हैं. नुकसान का पूरा जायजा लेने के बाद ही एमएलए फंड से राहत राशि वितरित की जाएगी. विधायक ने इस बात की भी जानकारी दी कि प्रभावित इलाके में आर्मी लगा दी गई है जो राहत और बचाव का काम देख रही है.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें