scorecardresearch
 

अमेरिका में जारी फ्लोरेंस का कहर, कैरोलीना में भीषण बाढ़ का खतरा

बता दें कि तट के आस-पास शुरुआती कहर बरपा करते हुए फ्लोरेंस तूफान ने इमारतों को झुका दिया है, आस-पास के इलाकों को डुबा दिया है और 9,00,000 से ज्यादा घरों व प्रतिष्ठानों में बिजली आपूर्ति ठप कर दी है.

फ्लोरेंस तूफान का कहर फ्लोरेंस तूफान का कहर

अमेरिका के पूर्वी तट पर 'फ्लोरेंस' तूफान के चलते लगातार हो रही बारिश और नदियों का जलस्तर बढ़ने से रविवार को कैरोलीना में बाढ़ का पानी भर गया. इस वजह से विलमिंगटन से सड़क संपर्क टूट गया है. उत्तरी कैरोलीना के गवर्नर रॉय कूपर ने बताया कि तूफान की वजह से मरने वालों की संख्या 17 पहुंच गई है.

'फ्लोरेंस’ तूफान अब पश्चिम दिशा की ओर बढ़ रहा है. तूफान की वजह से शुक्रवार से यहां 75 सेंटीमीटर बारिश हुई और भयावह बाढ़ का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है.

राज्य के नदियों में बढ़ रहे जलस्तर को लेकर एहतियाती कदम उठाते हुए हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के आदेश दिए गए हैं. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि संघीय आपात सेवा कर्मी, मौके पर सहायता पुहंचाने वाले और कानून प्रवर्तन अधिकारी सचमुच में कड़ी मेहनत कर रहे हैं.

तूफान में फंसे सैकड़ों लोगों को निकालने के लिए शनिवार को नौसैनिकों, तटरक्षक बलों, असैन्य नागरिकों एवं स्वंयसेवियों ने हेलीकॉप्टर, नावों और भारी वाहनों की मदद ली. माना जा रहा है कि उत्तरी कैरोलिना में और बाढ़ आ सकती है जो कहीं ज्यादा विनाशकारी साबित हो सकती है.

नदियों का उफान रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुका है जिसके बाद हजारों लोगों को जगह खाली करने को कहा गया है. डर है कि अगले कुछ दिनों में उत्तरी कैरोलिना के इतिहास में अब तक की सबसे विनाशकारी बाढ़ आ सकती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें