scorecardresearch
 

केरल में 'आज तक' से बोले अमित शाह- राजनीतिक हत्या और कम्युनिस्ट शासन का चोली-दामन का साथ

बीजेपी प्रमुख अमित शाह ने उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ सीपीएम की हिंसा के खिलाफ कल से सभी राज्यों की राजधानियों में दो सप्ताह की 'पदयात्रा' की  घोषणा की है.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

केरल में RSS-BJP के कार्यकर्ताओं की हो रही हत्याओं के खिलाफ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आज से जनसुरक्षा यात्रा शुरू कर दी है. अमित शाह की यह यात्रा सबसे पहले कन्नूर के पयन्नुर में शुरू हुई. यात्रा में भारी संख्या में उनके समर्थक बीजेपी के झंडे और बैनर लिए हुए नजर आ रहे हैं. इस दौरान अमित शाह भी अपने समर्थकों के साथ पदयात्रा करते और उनका समर्थन करते केंद्रीय पर्यटन मंत्री केजे अल्फोंस के साथ नजर आए.

अमित शाह बोले- राजनीतिक हत्या और कम्यूनिस्ट शासन का चोली-दामन का साथ

यात्रा के बाद आज तक के साथ हुई खास बातचीत में कहा, "मैसेज तो चला गया... 9 किलोमीटर की यात्रा में पूरा जनसैलाब उभर गया था..." केरल में हुई हत्याओं पर बोलते हुए अमित शाह ने कहा, "केरल में जब से कम्युनिस्ट सत्ता में आए हैं तब से हत्याएं बढ़ी हैं. राजनीतिक हत्याओं का ग्राफ उठाकर देख लीजिए... जब-जब कम्युनिस्ट सत्ता में आते हैं हत्याएं बढ़ जाती हैं. जब-जब कम्युनिस्ट सत्ता में होते हैं राजनीतिक हत्याएं होती है.... राजनीतिक हत्या और कम्युनिस्ट शासन का चोली-दामन का साथ है."

सभी राज्यों की राजधानी में होगी पदयात्रा

आपको बता दें कि बीजेपी प्रमुख अमित शाह ने उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ सीपीएम की हिंसा के खिलाफ कल से सभी राज्यों की राजधानियों में दो सप्ताह की 'पदयात्रा' की  घोषणा की है. केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन के गृह नगर और सीपीएम के गढ़ में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि राज्य में हिंसा के लिए विजयन जिम्मेदार हैं. बीजेपी कार्यकर्ता 'राजनीतिक हत्याओं' के पीड़ित हैं.

गौरतलब है कि शाह एक पखवाड़े तक चलने वाली जन रक्षा यात्रा का शुभारंभ करने कन्नूर पहुंचे थे. राज्य में वाम दल की कथित राजनीतिक हिंसा के विरोध में पार्टी इस यात्रा का आयोजन कर रही है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी राज्य में वाम दल के शासन से लड़ने के लिए लोकतांत्रिक तरीकों का इस्तेमाल करेगी.

इस मौके पर शाह ने आरोप लगाते हुए कहा, "सीपीएम नेता और केरल के मुख्यमंत्री विजयन राज्य में सभी राजनीतिक हत्याओं के लिए प्रत्यक्ष रूप से जिम्मेदार हैं."

कन्नूर में सबसे ज्यादा मारे गए बीजेपी कार्यकर्ता

आपको बता दें कि बीजेपी ने सोमवार को कहा था कि राज्य में वर्ष 2001 के बाद से 120 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है जिनमें से 84 लोग केवल कन्नूर में मारे गए. पिछले साल सीपीएम के सत्ता में आने के बाद से कन्नूर में 14 लोग मारे जा चुके हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें