scorecardresearch
 

हुबली में अमित शाह बोले-CAA का विरोध करने वाले दलित विरोधी

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के लिए देशभर में समर्थन जुटाने की मुहिम में जुटी हुई है. इसी अभियान के तहत शनिवार को गृह मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के हुबली पहुंचे. हुबली में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने विपक्षी दलों पर निशाना साधा.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फोटो-PTI) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फोटो-PTI)

  • भारत आने वाले शरणार्थियों में 70 फीसदी दलित
  • बीजेपी वोट बैंक की राजनीति नहीं करती- शाह

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के लिए देशभर में समर्थन जुटाने की मुहिम में जुटी हुई है. इसी अभियान के तहत शनिवार को गृह मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के हुबली पहुंचे. हुबली में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने विपक्षी दलों पर निशाना साधा. अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने धार्मिक रूप से उत्पीड़ित शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने के लिए कानून बनाया है, लेकिन विपक्ष इसके खिलाफ खड़ा है. उन्होंने कहा कि भारत आने वाले शरणार्थियों में 70 फीसदी दलित हैं और जो लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं वो लोग दलित विरोध हैं.

अमित शाह ने कहा कि पाकिस्तान में हिंदुओं के साथ अत्याचार हुआ. पाकिस्तान में हिन्दुओं की आबादी 30 फीसदी से घटकर 3 प्रतिशत हो गई है. मैं हुबली की जनता को बताना चाहता हूं कि उन लोगों को मार दिया गया, उनका धर्म परिवर्तन कर दिया गया. पाकिस्तान में मंदिर, चर्च और गुरुद्वारे तोड़े गए.

ये भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल: CAA के समर्थन में नंदीग्राम जा रहे दिलीप घोष को पुलिस ने रोका

अमित शाह ने कहा कि भारत आने वाले शरणार्थियों में 70 फीसदी दलित हैं जो लोग CAA का विरोध कर रहे हैं वो दलित विरोधी हैं. पाकिस्तान (पूर्वी और पश्चिमी) में 30 फीसदी हिंदू थे. आज पाकिस्तान में तीन फीसदी और बांग्लादेश में उनकी संख्या घटकर 3 फीसदी पहुंच चुकी है. मैं प्रदर्शनकारियों से पूछना चाहता हूं कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक कहां गए. किसी के पास इसका जवाब है.

ये भी पढ़ें: UP: प्रयागराज एयरपोर्ट से हिरासत में लिए गए पूर्व IAS कन्नन गोपीनाथन

उन्होंने कहा कि बीजेपी वोट बैंक की राजनीति नहीं करती है. नेहरू ने वादा किया था कि हम नागरिकता देंगे, सरदार पटेल ने वादा किया था कि हम नागरिकता देंगे. लेकिन उस वादे को निभाया नहीं गया. इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष ने कश्मीर से 370 को निरस्त किए जाने का भी जिक्र किया और कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि राहुल बाबा के नाना जी (जवाहरलाल नेहरू) जो गलती करके गए थे, नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर उसे सुधारने का काम किया है.

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी भी कहते हैं कि 370 नहीं हटना चाहिए, इमरान खान भी कहते हैं नहीं हटना चाहिए. दोनों कहते हैं कि सीएए नहीं आना चाहिए. मुझे समझ नहीं आता कि कांग्रेस और पाकिस्तान के बीच रिश्ता क्या है. राहुल बाबा के नाना जी जो गलती करके गए थे, नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर उसे सुधारने का काम किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें