scorecardresearch
 

हेडली से मुलाकात बहुत संक्षिप्त थी: रेगे

मुंबई हमलों के मुख्य आरोपी हेडली के शिवसेना सदस्य राजाराम रेगे को अपना महत्वपूर्ण संपर्क बताए जाने के बाद रेगे ने कहा कि हेडली से उनकी बहुत संक्षिप्त मुलाकात हुई थी और वह एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) को इस बारे में पूरी जानकारी दे चुके हैं.

मुंबई हमलों के मुख्य आरोपी हेडली के शिवसेना सदस्य राजाराम रेगे को अपना महत्वपूर्ण संपर्क बताए जाने के बाद रेगे ने कहा कि हेडली से उनकी बहुत संक्षिप्त मुलाकात हुई थी और वह एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) को इस बारे में पूरी जानकारी दे चुके हैं.

अमेरिका के शिकागो की अदालत में पाकिस्तानी मूल के अमरिकी नागरिक हेडली ने रेगे को एक महत्वपूर्ण संपर्क बताते हुए उन्हें शिवसेना का जनसंपर्क अधिकारी कहा था, जिसका पार्टी ने खंडन करते हुए कहा है कि उनके यहां ऐसा कोई पद नहीं है.

रेगे ने बताया, ‘हेडली और मेरी मुलाकात कुल दो सेकेंड की थी और इस दौरान उसके पास कोई कैमरा नहीं था और उसके हाथ में भी बैग या उस जैसा कुछ नहीं था. उसने साधारण पेंट-शर्ट पहना हुआ था.’

उन्होंने कहा, ‘दिल्ली से आए एनआईए के अधिकारी मुझसे यह जानना चाहते थे कि मुलाकात के दौरान उसका व्यवहार संदिग्ध तो नहीं था. उन्होंने मुझे बुलाया और इसके बाद मैं दो-तीन बार उनसे मिला. वे जानना चाहते थे कि मेरी हेडली से क्या बात हुई और हम कैसे और कब मिले.

हेडली ने अदालत को बताया कि उसने लश्कर-ए-तैयबा के अपने आका साजिद मीर के साथ शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे और शिवसैनिकों की हत्या की साजिश रची थी. उसने कहा कि हमने इसकी चर्चा की थी. यह व्यक्ति (रेगे) बहुत महत्वपूर्ण था और इसके जरिये हमें इस संगठन (शिवेसेना) में पहुंच मिल सकती थी. रेगे ने कहा कि हेडली से मुलाकात के दौरान वह शिवसेना में किसी पद पर नहीं थे ,केवल उसके सदस्य थे.

सिंधुदुर्ग में मौजूद रेगे ने बताया कि हेडली जिम प्रशिक्षक विकास वराक के साथ मेरे पास आया था और उसने सेनाभवन को भीतर से देखने की इच्छा जाहिर की थी, लेकिन मैंने उससे कहा था कि यह पर्यटन स्थल नहीं है और पर्यटकों को यहां आने की इजाजत नहीं है.

शिवसेना के साथ अपने संपर्क के बारे में उन्होंने कहा कि वह सिर्फ एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं. उन्होंने कहा कि हेडली मुझसे उस समय मिला जब मैं सेना भवन में किसी सामाजिक कार्य के सिलसिले में था. उन्होंने कहा कि सेनाभवन में मुझसे कई लोगों को मिलते देख हेडली ने मुझे पार्टी का मुख्य जनसंपर्क अधिकारी समझ लिया होगा.

उन्होंने कहा कि इसके बाद हेडली ने फिर मुझे फोन कर सेनाभवन में प्रवेश की इजाजत दिलवाने की बात कही, लेकिन मैंने उसका काम नहीं किया. मुझे उसके मंसूबों का अंदाजा नहीं था. रेगे ने यह भी कहा कि वह महेश भट्ट के बेटे राहुल भट्ट से कभी नहीं मिले हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें