scorecardresearch
 

आईआईटी-2011 परीक्षा परिणाम की घोषणा

आईआईटी  परीक्षा का परिणाम (IIT 2011 results) बुधवार को घोषित कर दिये गये और इसमें बैठे चार लाख 68 हजार 240 परीक्षार्थियों में से 13 हजार 602 को सफल घोषित किया गया है. इस बार आईआईटी-जेईई 2011 के आयोजन की जिम्मेदारी आईआईटी कानपुर को सौंपी गयी थी.

आईआईटी  परीक्षा का परिणाम (IIT 2011 results) बुधवार को घोषित कर दिये गये और इसमें बैठे चार लाख 68 हजार 240 परीक्षार्थियों में से 13 हजार 602 को सफल घोषित किया गया है. इस बार आईआईटी-जेईई 2011 के आयोजन की जिम्मेदारी आईआईटी कानपुर को सौंपी गयी थी.

आईआईटी कानपुर के निदेशक प्रो संजय गोविंद धांडे ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि इस बार सर्वाधिक परीक्षार्थी आईआईटी बाम्बे जोन के चयनित हुये है. यहां 82 हजार 585 छात्र परीक्षा में बैठे थे, जिसमें से 3336 छात्र-छात्रायें सफल घोषित किये गये है.

उन्होंने बताया कि अखिल भारतीय आईआईटी-जेइई में पहले स्थान पर आईआईटी मद्रास जोन के इम्मादी पुरूधवी तेज और दूसरे स्थान पर आईआईटी बाम्बे जोन के शुभम मेहता, जबकि तीसरे स्थान पर आईआईटी मद्रास जोन के वी श्यामक रेड्डी रहे.

वहीं, चौथे स्थान पर मद्रास जोन के ही बुर्ले साई किरन, पांचवे स्थान पर बाम्बे जोन के निशिथ लोहाटी, छटे नंबर पर रूड़की जोन के कुनाल चावला, सातवें स्थान पर दिल्ली जोन के द्रवांश शर्मा, आठवें स्थान पर मद्रास जोन के टी बी रेड्डी, नवमें स्थान पर मद्रास जोन के ही जंगा वरूण तथा दसवें स्थान पर बाम्बे जोन के तन्मय रंधावणे रहे.

प्रो. धांडे ने बताया कि लड़कियों में पहले स्थान पर आईआईटी रूड़की जोन की सुमेघा गर्ग रही और वह मेरिट में 12वें स्थान पर हैं. वहीं, कानपुर जोन में अर्चित गुप्ता पहले स्थान पर रहें, जबकि मेरिट में वह 14वें हैं. उन्होंने बताया कि इस बार जेईई परीक्षा में एक लाख आठ हजार 647 छात्रायें परीक्षा में बैठी थी, जिसमें से 1491 छात्रायें सफल घोषित की गयी.

उन्होंने बताया कि इस बार की परीक्षा में बैठे चार लाख 68 हजार 240 परीक्षार्थियों में से 13 हजार 602 परीक्षार्थी सफल घोषित किये. इसमें से बाम्बे जोन के 82 हजार 585 परीक्षार्थियों में 3336 छात्र कामयाब होकर पहले स्थान पर रहें, जबकि दूसरे स्थान पर आईआईटी मद्रास जोन रहा, जहां 62 हजार 880 छात्र प्रवेश परीक्षा में बैठे. इनमें से 3126 परीक्षार्थी सफल घोषित किये गये.

उन्होंने बताया कि तीसरे स्थान पर आईआईटी दिल्ली जोन रहा, जहां 68 हजार 249 छात्र परीक्षा में बैठे थे, जिसमें से 2138 परीक्षार्थी सफल घोषित किये गये. इसी तरह कानपुर जोन में 78 हजार 54 में से 1577 छात्र, खड़गपुर में 60 हजार 529 छात्रों में से 1572 छात्र, रूड़की में 59 हजार 485 में से 1256 परीक्षार्थी, तथा सबसे कम आईआईई गौहाटी में 56 हजार 458 परीक्षार्थीयों में 597 परीक्षार्थी कामयाब हुये.

धांडे के अनुसार अन्य पिछड़ा वर्ग श्रेणी में जंगा वरूण पहले स्थान पर, एससी कैटेगरी में आशीष सोनोने, एस टी कैटेगरी में बनोथ रामाकृष्णा तथा विकलांग (फिजिकली डिसएबल्ड) श्रेणी में प्रत्यूष नालम ने पहला स्थान प्राप्त किया है. उन्होंने बताया कि ‘फर्स्ट सीट एलाटमेंट लिस्ट’ 21 जून को वेबसाइट पर जारी कर दी जायेगी, जबकि सूची 6 जुलाई को जारी की जायेगी.

आईआईटी कानपुर द्वारा आयोजित आईआईटी-जेईई 2011 परीक्षा में चार लाख 68 हजार 240 छात्र छात्रायें बैठे थे. यह परीक्षा 10 अप्रैल को देश और संयुक्त अरब अमीरात दुबई के एक केंद्र सहित 1051 केन्द्रों में एक साथ कराई गयी थी.

इस परीक्षा में 13 हजार 602 छात्र सफल घोषित किये गये है, जबकि देश के सभी आईआईटी में कुल सीटों की संख्या केवल 9618 है. इस बारे में उन्होंने बताया कि कई छात्र आईआईटी-जेईई में सफल होने के बाद भी प्रवेश नही लेते है. इसलिये अधिक परीक्षार्थी सफल घोषित किये जाते है ताकि कोई सीट खाली न रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×