scorecardresearch
 

हेडली ने शिकागो पार्क में अपने बच्चों को दिया था ‘सैन्य प्रशिक्षण’

लश्कर ए तैयबा के सदस्य डेविड कोलमैन हेडली ने पिछली गर्मियों में शिकागो पार्क में अपने बच्चों को ‘सैन्य प्रशिक्षण’ दिया था जिसके चलते पाकिस्तानी मूल का यह अमेरिकी आतंकवादी खुफिया एजेंसियों की नजरों में चढ़ गया.

X

लश्कर ए तैयबा के सदस्य डेविड कोलमैन हेडली ने पिछली गर्मियों में शिकागो पार्क में अपने बच्चों को ‘सैन्य प्रशिक्षण’ दिया था जिसके चलते पाकिस्तानी मूल का यह अमेरिकी आतंकवादी खुफिया एजेंसियों की नजरों में चढ़ गया.

शिकागो ट्रिब्यून ने एक अधिकारी के हवाले से कहा, ‘पिछली गर्मियों में अन्य पिताओं की तरह हेडली भी एक दिन अपने बच्चों को शिकागो पार्क लेकर गया. वहां हेडली ने अपने बच्चों को सैन्य अभ्‍यास की तरह दौड़ाया और उनसे गोली दागते समय लिए जाने वाले मोर्चे जैसी कई गतिविधियां कराईं.’ रिपोर्ट के अनुसार इस तरह की गतिविधियों के चलते हेडली शिकागो पुलिस के एक अधिकारी की नजरों में चढ़ गया. अधिकारी ने इस बात पर भी गौर किया कि बच्चों से सैनिकों जैसी गतिविधियां कराते समय हेडली उर्दू बोल रहा था.

शिकागो पुलिस के कमांडर स्टीव कालुरिस ने अधिकारी द्वारा देखे गए वाकये के आधार पर कहा, ‘इसने सचमुच उसपर (हेडली) नजर रखे जाने में मदद की.’ उन्होंने कहा, ‘हम यह नहीं कह रहे कि अधिकारी ने उसे (हेडली) को सार्वजनिक रूप से कोई षड्यंत्र रचते देखा. अधिकारी ने ऐसी गतिविधि देखी जो साधारण नहीं थी.’ आतंकवाद रोधी प्रशिक्षण प्राप्त अधिकारी द्वारा देखी गई चीजें हेडली के खिलाफ मामले का हिस्सा बन गईं जिसे पिछले साल अक्तूबर में एफबीआई ने गिरफ्तार कर लिया. बाद में उस पर मुम्बई हमलों और डेनमार्क में हमलों की योजना बनाने का आरोप लगा.{mospagebreak}

हेडली ने आतंकवाद के आरोपों को स्वीकार कर लिया था और फिलहाल वह शिकागो जेल में बंद है. वह तब भी कोई संदेह किए जाने से खुद को बचाने में कामयाब रहा था जब उसकी दो बीवियों ने सामने आकर उसके बारे में जानकारी दी थी. अमेरिकी अधिकारियों ने इस बारे में कहा है कि उसकी पत्नियों द्वारा दी गई जानकारी इतनी विशिष्ट नहीं थी जिससे एक अमेरिकी नागरिक के खिलाफ जांच शुरू की जा सके.

हेडली ने अमेरिकी सरकार से एक समझौता कर अपना जुर्म कबूल कर लिया था जिससे उसे मृत्युदंड नहीं मिलेगा. आतंकवाद की साजिश में उसके द्वारा अपने सह आरोपी तहव्वुर हुसैन राणा के खिलाफ गवाही दिए जाने की उम्मीद है.

हेडली ने कई बार भारत की यात्रा की और मुम्बई तथा अन्य भारतीय शहरों में उन ठिकानों के बारे में अपने पाकिस्तानी आकाओं को सूचना दी जहां हमले किए जा सकें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें