scorecardresearch
 

वायरल हुई राजस्थान में सड़क निर्माण की अजीबोगरीब तस्वीर, गहलोत सरकार की हुई किरकिरी

सोशल मीडिया के यूजर्स ने इस इस तस्वीर को साझा करते हुई कैप्शन लिखा कि 21वीं सदी के इंजीनियर्स का कमाल. वहीं एक अन्य यूजर्स ने लिखा भविष्य में इलेक्ट्रॉनिक वाहन भी चल सकें इसलिए भविष्य की प्लानिंग की गई है. अन्य यूजर्स ने ठेकेदार को सम्मानित करने की बात लिखी है.

X
बाड़मेर बाड़मेर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सड़क के बीच खड़ा है पोल
  • गहलोत सरकार का उड़ रहा मजाक

पिछले कुछ घंटों से राजस्थान में सोशल मीडिया पर एक तस्वीर जबरदस्त तरीके से वायरल हो रही है. इस तस्वीर में नई सड़क का निर्माण हो रखा है लेकिन सड़क के बीचों बीच बिजली का पोल बिना हटाए ही सड़क का निर्माण करवा दिया गया. आप तस्वीरों में देख सकते है कि बिजली का पोल सड़क के बीचों बीच नजर आ रहा है. जिसके बाद सोशल मीडिया पर यह तस्वीर ट्रेंड होने लगी है.

गहलोत सरकार का उड़ रहा मजाक

सोशल मीडिया के यूजर्स इस तस्वीर को पोस्ट कर राजस्थान की गहलोत सरकार का जमकर मजाक उड़ा रहे हैं. यह तस्वीर राजस्थान के बाड़मेर जिले के बांद्रा गांव की है, जहां पर एक दिन पहले ही सड़क का निर्माण हुआ है लेकिन सड़क के बीच का बिजली का पोल नहीं हटाया गया.

सड़क के बीच में बिजली का पोल

जानकारी के अनुसार बाड़मेर विधानसभा क्षेत्र के बांद्रा गांव में सड़क का निर्माण कार्य चल रहा था. ग्रेवल सड़क कई सालों पहले बनी थी, उसके ऊपर नई सड़क का निर्माण 2 दिन पहले ही शुरू हुआ है. गांव के सरपंच की ओर से बिजली पोल को हटाने के लिए विद्युत विभाग को जानकारी भी दी गई थी लेकिन, विद्युत विभाग ने उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की. आनन-फानन में ठेकेदार ने एक दिन पहले ही सड़क का निर्माण करवा दिया जबकि सबसे मजे की बात तो यह है कि सड़क के बीचो बीच 11 केवी के लाइट के पोल को हटाया ही नहीं गया. 

राहगीरों के लिए खतरनाक

गांव के निवासी विशनाराम के अनुसार सड़क निर्माण से पहले विद्युत विभाग को इसकी जानकारी दी गई थी लेकिन, विद्युत विभाग ने इसे हटाने पर कोई कार्रवाई नहीं की. ऊपर से पीडब्ल्यूडी ने सड़क का निर्माण करवा दिया. ऐसे में इस रास्ते से जाने वाले राहगीरों के लिए यह बिजली का पोल खतरनाक साबित हो सकता है.

सोशल मीडिया पर बन रहा मजाक

सोशल मीडिया पर इस सड़क से आने जाने वालों का एक वीडियो भी सामने आया है. जिसमें लोग साफ तौर पर यह कहते नजर आ रहे हैं कि सड़क निर्माण के दौरान बिजली के पोल को नहीं हटाया गया है जो कि राहगीरों के लिए बड़ा खतरा है. वहीं सोशल मीडिया के यूजर्स ने इस इस तस्वीर को साझा करते हुई कैप्शन लिखा कि 21वीं सदी के इंजीनियर्स का कमाल. वहीं एक अन्य यूजर्स ने लिखा भविष्य में इलेक्ट्रॉनिक वाहन भी चल सकें इसलिए भविष्य की प्लानिंग की गई है. अन्य यूजर्स ने ठेकेदार को सम्मानित करने की बात लिखी है.

जब इस पूरे मामले को लेकर इंडिया टुडे ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारी महावीर जैन से बात की तो उन्होंने बताया कि बिजली पोल को हटाने के लिए विद्युत विभाग को लिख रखा था लेकिन विभाग ने कोई कार्रवाई नहीं की और बिना जानकारी के ठेकेदार ने सड़क का निर्माण करवा दिया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें