scorecardresearch
 

पेपर लीक हुआ, या हुई नकल तो आएगी शामत...REET परीक्षा को लेकर सीएम गहलोत की हिदायत

गहलोत ने सभी अभ्यर्थियों को रीट परीक्षा में शामिल होने के लिए फ्री यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराने का आदेश दिया. उन्होंने आदेश दिया कि रोडवेज बसों के अलावा निजी बसों की व्यवस्था कर अभ्यर्थियों को फ्री यात्रा की सुविधा दी जाए. साथ ही पेपर लीक, डमी अभ्यर्थी और नकल जैसे मामलों में संलिप्त कर्मचारियों को बर्खास्त किया जाए.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (फाइल फोटो) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 26 सितंबर को होनी है रीट परीक्षा
  • परीक्षा में शामिल होंगे 16 लाख अभ्यर्थी
  • राज्य सरकार ने सभी को फ्री बस सेवा का किया ऐलान

राजस्थान टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट (REET) को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को एक अच्च स्तरीय बैठक की. इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को कड़े शब्दों में हिदायत दी है कि परीक्षा को लेकर इंतजामों में किसी तरह की चूक बर्दाश्त नहीं की जाएगी. उन्होने कहा,  पेपर लीक और नकल हुई, तो इसमें संलिप्त सरकारी कर्मचारी को बर्खास्त कर दिया जाएगा. साथ ही स्कूल के संचालक की भूमिका सामने आने पर स्कूल की मान्यता स्थाई तौर पर रद्द कर दी जाएगी. 

अभ्यर्थियों को फ्री यात्रा की सुविधा
इसके साथ ही गहलोत ने सभी अभ्यर्थियों को रीट परीक्षा में शामिल होने के लिए फ्री यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराने का आदेश दिया. उन्होंने आदेश दिया कि रोडवेज बसों के अलावा निजी बसों की व्यवस्था कर अभ्यर्थियों को फ्री यात्रा की सुविधा दी जाए. साथ ही पेपर लीक, डमी अभ्यर्थी और नकल जैसे मामलों में संलिप्त कर्मचारियों को बर्खास्त किया जाए. 

उन्होंने कहा, प्रतियोगी परीक्षाओं में नकल गिरोह द्वारा नकल कराने से अभ्यर्थियों की मेहनत पर पानी फिर जाता है. ऐसे में नकल गिरोहों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा, किसी भी परीक्षा केंद्र पर लापरवाही ना बरती जाए. परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी लगाए जाएं. उन्होंने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड एवं जिला कलेक्टरों को निर्देश दिए कि प्रश्न पत्रों के प्रिंटिंग प्रेस से परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचने और वहां खोलने तक की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई जाए.

महिला अभ्यर्थियों के लिए खाने पीने की व्यवस्था करें समाजसेवी
उन्होंने कहा कि रीट परीक्षा में शामिल होने वाले हमारे नौजवान अभ्यर्थी आने वाले समय में प्रदेश का भविष्य हैं. ऐसे में परीक्षा देने आए अभ्यर्थियों विशेषकर महिला अभ्यर्थियों को ठहरने एवं खाने-पीने की परेशानी हो तो जनप्रतिनिधि समाजसेवी एवं स्वयंसेवी संस्थान आगे बढ़कर इन अभ्यर्थियों की मदद करें. उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टर जिले में स्वयंसेवी संस्थाओं से बात कर उन्हें मदद के लिए तैयार करें. 

गहलोत ने कलेक्टर-एसपी को निर्देश दिए कि रीट परीक्षा के दौरान कानून एवं व्यवस्था बनी रहे यह सुनिश्चित किया जाए. साथ ही वे निरंतर भ्रमण कर व्यवस्थाओं की निगरानी करें. उन्होंने हर जिले में कन्ट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए ताकि अभ्यर्थी विशेषकर महिला अभ्यर्थी किसी तरह की परेशानी होने पर सूचना दे सकें. 

26 सितंबर को होनी है परीक्षा
रीट की परीक्षा 26 सितंबर को दो पालियों में होगी. लिए 16 लाख 22 हजार 19 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है. रेलवे ने इसके लिए 11 विशेष ट्रेनें चलाने पर सहमति दी है. कुछ और ट्रेनों का अनुरोध किया है.  प्रदेश में 3993 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें