scorecardresearch
 

पंजाब के बाद राजस्थान विवाद सुलझाने में जुटी कांग्रेस, जल्द किया जा सकता है मंत्रिमंडल विस्तार

राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार (Rajasthan Cabinet Expansion) से जुड़ी अहम जानकारी सामने आई है. अब जुलाई महीने में ही यह मंत्रिमंडल विस्तार किया जा सकता है. सूत्रों के अनुसार, 27-28 जुलाई की तारीख तय कर ली गई है.

X
अशोक गहलोत और सचिन पायलट अशोक गहलोत और सचिन पायलट
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब के बाद राजस्थान पर कांग्रेस की नजर
  • गहलोत-पायलट के बीच दूरी कम करने की कोशिश
  • 27-28 जुलाई को हो सकता है कैबिनेट विस्तार

राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार (Rajasthan Cabinet Expansion) से जुड़ी अहम जानकारी सामने आई है. अब जुलाई महीने में ही यह मंत्रिमंडल विस्तार किया जा सकता है. सूत्रों के अनुसार, 27-28 जुलाई की तारीख तय कर ली गई है. इसके अलावा, इसी महीने जिला अध्यक्षों की नियुक्ति भी हो जाएगी. पंजाब के बाद अब कांग्रेस राजस्थान के विवाद को सुलझाना चाहती है, जोकि लंबे समय से चल रहा है. 

राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार के लिए जिला अध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर सहमति बन गई है. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और सांसद राहुल गांधी ने सहमति दी है. ऐसे में माना जा रहा है कि आने वाले एक-दो दिनों में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दिल्ली का दौरा कर सकते हैं.

वहीं, इस बात के भी कयास लगाए जा रहे हैं कि आलाकमान का संदेश लेकर अजय माकन भी हो सकता है कि जयपुर आ जाएं. इस तरह से गहलोत और सचिन पायलट कैंप में सुलह का फॉर्मूला तैयार हो गया है. इसपर गहलोत की भी सहमति हो गई है.

यह भी पढ़ें: सिद्धू के नाम पर प्रियंका गांधी की मुहर: अन्य राज्यों में भी दिखाई देगा कांग्रेस के 'पंजाब मॉडल' का असर!

मालूम हो कि कई महीनों के बाद पंजाब में कांग्रेस का विवाद हाल ही में खत्म हुआ है. पार्टी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के विरोध के बावजूद भी नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का प्रमुख बनाया है. सिद्धू की शुक्रवार को ताजपोशी भी हो गई है. अब कांग्रेस आलाकमान की नजर राजस्थान में सचिन पायलट और मुख्यमंत्री गहलोत के बीच चले आ रहे विवाद को सुलझाने पर है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी राजस्थान के सियासी मसलों को जल्द से जल्द हल करना चाहती हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें