scorecardresearch
 

आदमखोर तेंदुए की दहशत, हफ्तेभर में 3 लोगों को बनाया निवाला

तेंदुए के हमले की ताजा घटना रविवार को हुई जब जायदपुर गांव की रहने वाली 30 साल की शांति देवी को इस तेंदुए ने शिकार बनाया. वो जंगल में लकड़ी काटने गई थी. इलाके के लोगों में घटना के बाद प्रशासन के खिलाफ रोष है. हजारों ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया. मौके पर अलवर से बड़ी तादाद में फोर्स भेजी गई है.

X
आदमखोर तेंदुए से खौफजदा लोगों ने किया प्रदर्शन आदमखोर तेंदुए से खौफजदा लोगों ने किया प्रदर्शन

अलवर के सरिस्का पार्क के नजदीक लोग इन दिनों एक नरभक्षी तेंदुए की दहशत में जी रहे हैं. ये तेंदुआ 1 हफ्ते में तीन महिलाओं को शिकार बना चुका है. पिछले 4 महीने में इस तेंदुए ने 6 जानें ली हैं. हालांकि एक तेंदुए को वन विभाग के लोगों ने पकड़ा है, जबकि गांव वालों का कहना है कि नरभक्षी तेंदुआ अब भी पकड़ से बाहर है, उसे पकड़ना जरूरी है.

महिला बनी शिकार
तेंदुए के हमले की ताजा घटना रविवार को हुई जब जायदपुर गांव की रहने वाली 30 साल की शांति देवी को इस तेंदुए ने शिकार बनाया. वो जंगल में लकड़ी काटने गई थी. इलाके के लोगों में घटना के बाद प्रशासन के खिलाफ रोष है. हजारों ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया. मौके पर अलवर से बड़ी तादाद में फोर्स भेजी गई है.

नहीं थम रहे हमले
शनिवार की रात को भी काला लांका गांव में एक किशोरी को तेंदुए ने मार डाला था. ये महिला फसल की रखवाली करने के लिए खेत में गई थी. उसने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया. इससे पहले प्रतापगढ़ इलाके में भी पैंथर ने एक महिला और एक वृद्ध को मौत के घाट उतार दिया था.

सुरक्षा का भरोसा
सरिस्का के क्षेत्रीय वन निदेशक आर.एस शेखावत का दावा है कि गांववालों की हिफाजत के लिए इंतजाम किये जा रहे हैं. उनके मुताबिक खेतों में लगी बाड् को मजबूत किया जा रहा है और घरों में गैस कनेक्शन लगवाए जा रहे हैं ताकि किसी को भी लकड़ी काटने के लिए जंगल ना जाना पड़े.


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें