scorecardresearch
 

विश्वास के अजमेर लोकसभा उपचुनाव लड़ने की चर्चा के बाद 'आप' में खींचतान

ट्विटर पर AAP राजस्थान ने लिखा- ''आप राज. के कुछ कार्यकर्ता केंद्रीय कार्यालय के कुछ भ्रामक लोगों के षड्यंत्र के प्रभाव में आ रहे हैं. अजमेर लोस से कुमार विश्वास की उम्मीदवारी की सूचना गलत है.

कुमार व‍िश्वास (फाइल) कुमार व‍िश्वास (फाइल)

राजस्थान के नेताओं द्वारा कुमार विश्वास को अजमेर लोकसभा उपचुनाव लड़ाने के बयान ने आम आदमी पार्टी में खींचतान काफी ज्यादा बढ़ा दी है. हालांकि, कुमार विश्वास के अजमेर उपचुनाव लड़ने की खबर को षड्यंत्र बताते हुए आम आदमी पार्टी राजस्थान के ट्विटर हैंडल ने जो सफाई पेश की है वो बेहद दिलचस्प है. ट्विटर हैंडल से ये कहा गया है कि अजमेर लोकसभा सीट से कुमार विश्वास की उम्मीदवारी की सूचना गलत है. बता दें, ये खबरें तब आई हैं जब कुमार विश्वास दिल्ली की तीन राज्यसभा सीट में से एक पर अपना दावा पेश कर रहे हैं.

राजस्थान ' आप' ने क्या किया ट्वीट

ट्विटर पर AAP राजस्थान ने लिखा- ''आप राज. के कुछ कार्यकर्ता केंद्रीय कार्यालय के कुछ भ्रामक लोगों के षड्यंत्र के प्रभाव में आ रहे हैं. अजमेर लोस से कुमार विश्वास की उम्मीदवारी की सूचना गलत है. राज. की धरती पर यहीं का कार्यकर्ता लड़ेगा. कुमार विश्वास समय पर यहां प्रचार करें और चुनाव जितवाएं यह खुशी की बात होगी.''

इस पूरे मामले पर 'आजतक' ने  'आप' प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज से सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, "राज्यसभा में नाम किसका जाएगा ये पॉलिटिकल अफेयर कमिटी तय करेगा. अभी फिलहाल कोई मीटिंग नहीं हुई है. जहां तक कुमार विश्वास के अजमेर उपचुनाव लड़ने की बात है तो वो खुद आगे आएं.''

आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा के लिए 3 नाम भले तय न किए हों, लेकिन इतना साफ हो गया है कि एक नाम केजरीवाल कैम्प के लिए मुश्किल खड़ी कर रहा है. वो नाम है कुमार विश्वास जो राज्यसभा जाने की दावेदारी ठोक चुके हैं. गौर करने वाली बात यह है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता और पॉलिटिकल अफेयर कमिटी के सदस्य संजय सिंह, आशुतोष और गोपाल राय राज्यसभा के सवाल पर चुप्पी साधे हुए हैं.  

आम आदमी पार्टी को अगर बाहरी उम्मीदवारों से सहमति नहीं मिलती है तो पार्टी अंदरूनी नेताओं के नाम पर चर्चा कर सकती है. सूत्रों की मानें तो 'आप' की जल्द ही पॉलिटिकल अफेयर कमिटी की बैठक होगी. दिलचस्प बात यह है कि खुद कुमार विश्वास भी इस कमिटी के सदस्य हैं. अब इंतजार है कि पार्टी किन तीन चेहरों को राज्यसभा भेजने के लिए चुनेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें