scorecardresearch
 

जयपुर राजघराने की राजकुमारी दीया ने शादी के 21 साल बाद मांगा तलाक

बीजेपी की पूर्व विधायक राजकुमारी दीया कुमारी के अपने पति नरेंद्र सिंह के साथ पिछले काफी दिनों से अच्छे रिश्ते नहीं चल रहे थे . दीया कुमारी और उनके पति पिछले 5 सालों से अलग रह रहे थे. इसके बाद इन दोनों ने फिर से साथ रहना शुरू किया था. लेकिन पिछले कुछ दिनों से फिर से वे दोनों अलग हो गए थे.

फोटो- आजतक फोटो- आजतक

जयपुर राजघराने की राजकुमारी दीया कुमारी ने अपने प्रेम विवाह के 21 साल बाद अपने पति नरेंद्र सिंह से तलाक मांगा है. दीया कुमारी ने फैमिली कोर्ट में अर्जी लगाई है. दीया कुमारी ने जयपुर के गांधीनगर के महानगर फैमिली कोर्ट संख्या एक में प्रार्थना पत्र दायर किया है उसमें उन्होंने अपने पति नरेंद्र सिंह से तलाक लेने की इच्छा जताई है. बताया जाता है कि दीया कुमारी की तरफ से पिछले दिनों ही यह प्रार्थना पत्र दायर कर दिया गया था.

गौरतलब है कि बीजेपी की पूर्व विधायक दीया कुमारी के अपने पति नरेंद्र सिंह के साथ पिछले काफी दिनों से अच्छे रिश्ते नहीं चल रहे थे. दीया कुमारी और उनके पति पिछले 5 सालों से अलग रह रहे थे. इसके बाद इन दोनों ने फिर से साथ रहना शुरू किया था. लेकिन पिछले कुछ दिनों से फिर से वे दोनों अलग हो गए थे.

दीया कुमारी जयपुर के पूर्व राज महाराजा सवाई भवानी सिंह और राजमाता पद्मिनी देवी की बेटी हैं. उनकी शादी शिवाड़ के कोटड़ा ठिकाने के कुंवर नरेंद्र सिंह राजावत से हुई थी. उस वक्त 1997 में सगोत्र विवाह को लेकर राजस्थान में बड़ा बवाल मचा था और राजपूत सभा ने इस विवाह का विरोध किया था. लेकिन पूर्व राजपरिवार के सदस्य भवानी सिंह और दीया कुमारी की मां पद्मिनी देवी अपनी बेटी के पक्ष में खड़े रहे और उन्हें शादी करवाई. शादी के वक्त नरेंद्र सिंह सिटी पैलेस में ही काम कर रहे थे.

दीया कुमारी और उनके पति को दो बेटे और एक बेटी हैं. बड़े बेटे पद्मनाभ सिंह को महाराज भवानी सिंह ने गोद लेकर जयपुर राजघराने का उत्तराधिकारी घोषित किया है जबकि दूसरे बेटे लक्ष्यराज सिंह हिमाचल प्रदेश के सिरमौर राजघराने में गोद लिए गए हैं. दीया कुमारी 2013 में राजनीति में उतरी थीं और सवाई माधोपुर से बीजेपी के टिकट पर विधायक बनी थीं. दीया कुमारी इस बार चुनाव नहीं लड़ीं. इसके लिए उन्होंने व्यक्तिगत कारणों का हवाला दिया था.  माना जा रहा है कि व्यक्तिगत कारणों में उनका परिवारिक कलह भी शामिल है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें