scorecardresearch
 

देश को मिलने जा रहा पहला नेशनल Highway, जहां उतर सकेंगे IAF के लड़ाकू विमान

राजस्थान के बाड़मेर में बन रहे नेशनल हाइवे पर जरूरत पड़ने पर भारतीय वायुसेना अपने विमान भी उतार सकेगी. 9 सितंबर को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और राजनाथ सिंह इसका उद्घाटन करेंगे.

देश के 12 हाइवे पर तैयार होगी ऐसी हवाई पट्टी. (प्रतीकात्मक तस्वीर) देश के 12 हाइवे पर तैयार होगी ऐसी हवाई पट्टी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बाड़मेर हाइवे पर उतरेंगे IAF के विमान
  • नेशनल हाइवे पर बनाया जा रहा रनवे

राजस्थान के बाड़मेर में बन रहे नेशनल हाइवे (National Highway) पर भारतीय वायुसेना (IAF) अपने लड़ाकू विमान (Fighter Aircraft) भी उतार सकेगी. गुरुवार यानी 9 सितंबर को सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) और रक्षा मंत्री राजनाथ (Rajnath Singh) इस हाइवे का उद्घाटन करेंगे.

परिवहन मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि नेशनल हाइवे पर तैयार किए गए पहले रनवे को एक्टिवेट करने के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और राजनाथ सिंह बाड़मेर आएंगे. लड़ाकू विमानों के उतरने के लिए तैयार की गई ये रोड स्ट्रीप बाड़मेर में स्थित है, जिसे नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) और वायुसेना के अधिकारियों ने मिलकर तैयार किया है. 

इससे पहले आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर भी एयर स्ट्रीप बनी हुई है, जहां न सिर्फ लड़ाकू विमान उतर सकते हैं, बल्कि वहां से टेकऑफ भी कर सकते हैं. हालांकि, ये एक्सप्रेस वे उत्तर प्रदेश सरकार के अधीन है. बाड़मेर जिले में जो एयर स्ट्रीप बन रही है, वो देश के किसी भी नेशनल हाइवे पर मिलने वाली ऐसी पहली सामरिक सुविधा होगी. 

विमानों की एमरजेंसी लैंडिंग के लिए 12 नेशनल हाइवे की पहचान की गई है. ये 12 नेशनल हाइवे देश के अलग-अलग राज्यों में हैं और यहां सैन्य विमानों को आसानी से लैंड कराया जा सकेगा. इसका एक फायदा ये भी होगा कि किसी भी रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए सेना जल्दी वहां पहुंच सकेगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×