scorecardresearch
 

फोन टैंपिंग केस : सीेएम गहलोत के OSD लोकेश शर्मा को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच का नोटिस

पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलय की बगावत के समय राजनीतिक संकट से सीएम अशोक गहलोत जूझ रहे थे तो उन पर फोन टैपिंग के आरोप लगे थे.

X
फोन टैपिंग मामले में गहलोत सरकार बैकफुट पर आ गई थी (फाइल फोटो) फोन टैपिंग मामले में गहलोत सरकार बैकफुट पर आ गई थी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • राजस्थान का चर्चित फोन टैपिंग केस
  • सीएम गहलोत के OSD को नोटिस

राजस्थान के चर्चित  फोन टैपिंग प्रकरण में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के OSD लोकेश शर्मा को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है. लोकेश शर्मा को 14 मई को हाजिर होने के लिए कहा गया है. इस मामले की सुनवाई दिल्ली हाईकोर्ट में 9 मई को हुई थी जिसमें कहा गया था कि अंतरिम प्रोटेक्शन की वजह से लोकेश जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं.  हालांकि कोर्ट की ओर से अब भी उनकी गिरफ्तारी पर रोक बरकरार है. फिलहाल  नोटिस के हिसाब से माना जा रहा है कि लोकेश शर्मा को 14 मई को दिल्ली आना पड़ सकता है.

क्या है पूरा मामला
दरअसल जब पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलय की बगावत के समय राजनीतिक संकट से सीएम अशोक गहलोत जूझ रहे थे तो उन पर फोन टैपिंग के आरोप लगे थे. उस समय सीएम गहलोत ने सिरे से इस आरोप को नकार दिया था. लेकिन उसके बाद बीजेपी नेता काली चरण ने विधानसभा में सरकार से इस पर सवाल किया तो जवाब में फोन टैपिंग की बात स्वीकार कर ली गई. 

दिल्ली में दर्ज है केस
इस मामले में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने एक मामला दर्ज करा रखा है जिस पर जांच चल रही है. वहीं इसी मामले के खिलाफ सीएम गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा ने दिल्ली हाईकोर्ट में भी याचिका लगा रखी है जिसमें उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगी हुई है. लोकेश शर्मा भी इस पूरे मामले में लपेटे में हैं. उन पर आरोप है कि  उन्होंने ही फोन टैपिंग की सीडी को मीडिया में बंटवाया था.

 

 

 

 

 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें