scorecardresearch
 

PAK की बड़ी साजिश का खुलासा, पंजाब में ड्रोन के साथ भेजे हथियार

पंजाब की सीमा में भेजे गए दो ड्रोन को पंजाब पुलिस ने एक ऑपरेशन के दौरान पकड़ा. इन ड्रोन के साथ बॉक्स भी था, जिसमें काफी सामान थे. पाकिस्तान की ओर से ड्रोन के साथ दो वॉकी टॉकी, हथियार और कैश भेजे गए थे.   

पंजाब की सीमा में पाक ने भेजे दो ड्रोन (प्रतीकात्म फोटो) पंजाब की सीमा में पाक ने भेजे दो ड्रोन (प्रतीकात्म फोटो)

  • आॉपरेशन के दौरान दो ड्रोन को पंजाब पुलिस ने पकड़ा
  • 2 ड्रोन, उनके बॉक्स के साथ 6 लाख की करंसी पकड़ी गई

पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को पाकिस्तान की बड़ी साजिश का खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक, पाकिस्तान भारत में बड़े हमले की फिराक में था, लेकिन उसकी साजिश को नाकाम कर दिया गया. पंजाब की सीमा में भेजे गए दो ड्रोन को पंजाब पुलिस ने एक ऑपरेशन के दौरान पकड़ा.

ड्रोन के साथ बॉक्स भी था, जिसमें काफी सामान थे. पाकिस्तान की ओर से ड्रोन के साथ दो वॉकी टॉकी, हथियार और कैश भेजे गए थे. जानकारी के मुताबिक, पंजाब पुलिस ने एक ऑपरेशन के दौरान 2 ड्रोन और उनके बॉक्स समेत 6 लाख की करंसी पकड़ी है. साथ पंजाब पुलिस ने तीन पाकिस्तानी हैंडलर्स को भी गिरफ्तार किया है. पाकिस्तान से पंजाब में भेजे गए ड्रोन को हैंडल करने वाले तीनों लोग हिरासत में लिए गए.

e127b999-83fb-451e-b77e-39cb0dff7a2f_011020044429.jpg

भारत-पाक सीमा पर तरनतारन सेक्टर से पंजाब पुलिस ने ड्रोन के साथ लाखों की करंसी, वाकी-टॉकी और बैटरियां बरामद की हैं. पंजाब पुलिस के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर से 370 हटने के बाद पाकिस्तान से आतंकियों ने ड्रोन से हथियार भेजने का नया रास्ता व तरीका अपनाया है.

पंजाब के डीजीपी ने बताय कि हमलोगों ने भारत-पाक सीमा से तीन ड्रोन लॉन्चर्स को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि हमलोगों ने सीमा पर 2 ड्रोन को पकड़ा, जिसमें से एक ड्रोन करनाल, हरियाणा से पकड़ा गया है. डीजीपी ने कहा कि साथ ही हम इसमें अन्य लोगों के शामिल होने का भी पता लगा रहे हैं.

प्री प्रोग्राम्ड ड्रोन से आतंकी हमले की साजिश

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान प्री प्रोग्राम्ड ड्रोन के जरिए सीमापार से आतंकी हमले की नई साजिश कर सकता है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी या जीपीएस तकनीक नहीं होती है. यह प्री प्रोग्राम मोड पर काम करता है, जो उड़ने के बाद अपने संपर्क का साथ छोड़ देता है और टारगेट को निशाना बनाता है.

सूत्रों के मुताबिक, फिलहाल कश्मीर में आतंकियों ने अपनी रणनीति बदली है. दो से तीन आतंकियों का ग्रुप एक साथ आजकल मूवमेंट करता है, जबकि ये पहले 6 से 7 लोगों का ग्रुप एक साथ मूवमेंट करता था. ये छोटे ग्रुप अलग-अलग इलाकों में छुपने की कोशिश कर रहे हैं और जल्द ही बड़े वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें